हिप्स बढ़ने का कारण : इन 9 गलतियों के कारण बढ़ता है हिप्स का साइज

हिप्स बढ़ने का कारण (hips badhne ke karan) : हिप्स का सही आकार पर्सनाल्टी को निखारने का काम करता है, लेकिन यदि हिप्स में अधिक फैट जम जाए या हिप्स ज्यादा बढ़ जाएं तो इससे पर्सनाल्टी पर बुरा प्रभाव भी पड़ सकता है। मोटे हिप्स के कारण कई बार लोग अपनी मनपसंद के कपड़े नहीं पहन पाते और साथ ही इस कारण लोगों को उठने-बैठने और चलने में भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

हिप्स पर अधिक फैट जमना पर्सनाल्टी व सेहत दोनों के लिहाज से अच्छा नहीं होता। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की अन्य बॉडी पार्ट्स की तुलना में हिप्स के आसपास ही फैट क्यों बढ़ता है, हिप्स बढ़ने का कारण क्या है? और इस समस्या को कैसे दूर किया जा सकता है। अगर आप भी इस विषय में जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

हिप्स बढ़ने का कारण – Hips Badhne Ke Karan

अपनी दिनचर्या में हम कई ऐसी छोटी-छोटी गलतियां करते हैं जिनका असर तो हमें तुरंत नहीं दिखता लेकिन जब हम हम इन गलतियों को लंबे समय तक बारबार दोहराते हैं, तब इनका असर बॉडी पर दिखना शुरू हो जाता है। हिप्स बढ़ने के पीछे भी कुछ ऐसी ही छोटी-छोटी गलतियां होती हैं जिनके ऊपर आपको समय रहते ध्यान जरूर देना चाहिए। आइये इन गलतियों के बारे में यानी हिप्स बढ़ने का कारण (hips badhne ke karan) जानते हैं।  

1. लंबे समय तक एक ही जगह पर बैठे रहना

कुछ लोग खासकर ऑफिस में काम करने वाले लोग घंटों तक एक ही जगह पर बैठे रहते हैं जो पेट, हिप्स और थाई में फैट बढ़ने का एक प्रमुख कारण है। 8-10 घंटे एक ही जगह पर बैठे रहने से लोअर बॉडी खासकर हिप्स पर सबसे ज्यादा जोर पड़ता है जिससे इस जगह फैट जमा होने लगता है। अगर आपका भी बैठने का कार्य है तो कोशिश करें की समय-समय पर चेयर से उठकर थोड़ी बहुत चहलकदमी करें साथ ही बॉडी को स्ट्रेच करते रहें।  

यह भी पढ़े : जांघों की चर्बी कम करने की एक्सरसाइज और घरेलू उपाय

2. शारीरिक गतिविधि की कमी

laziness, no physical activity

फिजिकल एक्टिविटी यानी शारीरिक गतिविधि की कमी भी हिप्स बढ़ने का कारण (hips badhne ke karan) है। कुछ लोग बिल्कुल भी एक्सरसाइज नहीं करते और न ही अपने शरीर को ज्यादा एक्टिव रखते हैं, घर के छोटे-छोटे कामों के लिए भी गाड़ी या स्कूटर का इस्तेमाल करते हैं। पैदल चलना और सीढ़ियां चढ़ना लोगों को अब बिल्कुल भी पसंद नहीं रहा, लोग पैरों से जुड़ी गतिविधियां बहुत कम कर रहे हैं, जिस वजह से भी हिप्स और थाई में फैट बढ़ने लगता है।

3. अनहेल्दी डाइट के कारण बढ़ता है हिप्स पर फैट

अनहेल्दी डाइट जैसे फास्ट फूड्स, ऑयली फूड्स, पैकेट बंद फूड्स, शुगर, नमकीन व मैदे से बनी चीजों के अधिक सेवन से भी शरीर के अन्य अगों की तरह हिप्स पर फैट बढ़ता है। जब आप इस तरह का अनहेल्दी खाना खाते हैं और शरीर को बिल्कुल भी कष्ट नहीं देते तो यह फैट के रूप में शरीर के विभिन्न हिस्सों में जमा होने लगता है। ये फूड्स शरीर में फैट और कोलेस्ट्रॉल बढ़ाने का काम करते हैं, इसलिए बेहतर होगा की इनसे दूर ही रहें। 

4. हिप्स बढ़ने के हार्मोनल कारण 

fat women hips and thigh

हार्मोन्स असंतुलन भी हिप्स बढ़ने का कारण (hips badhne ka karan) हो सकता है। कुछ लोग अच्छा खाते-पीते हैं और एक्सरसाइज भी करते हैं लेकिन फिर भी उनके हिप्स का फैट कम नहीं होता। अगर आपके साथ भी यह समस्या है तो कहीं न कहीं इसके पीछे हार्मोन्स जिम्‍मेदार हो सकते हैं।  महिलाओं में हार्मोनल इंबैलेंस के कारण मोटापा बढ़ने की समस्या ज्यादा देखी जाती है। इसके पीछे थायराइड, एस्ट्रोजन व कोर्टिसोल जैसे हार्मोन्स हो सकते हैं, इसलिए समय-समय पर अपने शरीर की जांच भी कराते रहें।  

5. मेनोपॉज 

मेनोपॉज (रजोनिवृत्ति) वह स्थिति है जब कुदरती तौर पर महिलाओं का मासिक धर्म चक्र पूरी तरह बंद हो जाता है। इस स्थिति में 10-12 महीनों तक पीरियड्स नहीं आते। यह समस्या महिलाओं में 45-50 की उम्र के बाद ज्यादा देखी जाती है। वैसे तो मेनोपॉज कुदरती होता है, इसे बीमारी नहीं कहा जा सकता। 

लेकिन मेनोपॉज के बाद महिलाओं के शरीर में हार्मोनल बदलाव आते हैं जिससे उन्हें कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है, जिसमें वजन बढ़ना भी शामिल है। इस वजह से भी महिलाओं की थाई और हिप्स पर ज्यादा फैट जमा होता है।  

6. गर्भावस्था 

डिलीवरी के बाद महिलाओं की बॉडी में कई तरह के बदलाव आते हैं खासकर डिलीवरी के बाद शरीर में फैट तेजी से बढ़ने लगता है। साथ ही डिलीवरी के बाद महिलाएं अपने शरीर के ऊपर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाती है जिस कारण भी उनकी हिप्स और थाई में फैट बढ़ने लगता है। लेकिन एक हेल्दी डाइट और थोड़ी बहुत एक्सरसाइज या योग करके इस समस्या को दूर किया जा सकता है।

7. बढ़ती उम्र : हिप्स बढ़ने का कारण

बढ़ती उम्र भी हिप्स बढ़ने का एक कारण (hips badhne ke karan) हो सकता है। दरअसल, उम्र बढ़ने के साथ मेटाबॉलिज़्म स्लो होने लगता है, मांसपेशियां व हड्डियां कमजोर होने लगती है और पाचन क्रिया भी स्लो हो जाती है, इन सब के कारण शरीर में फैट जमा होने लगता है। बढ़ती उम्र के साथ महिलाओं के हिप्स, थाई, पेट और कमर में फैट बढ़ना आम है। लेकिन सही लाइफस्टाइल व खानपान का ख्याल रखकर इससे बचा जा सकता है।  

8. दवाओं का अधिक सेवन

taking medicine

हिप्स बढ़ने का एक अन्य कारण अधिक मात्रा में दवाओं का सेवन करना भी हो सकता है। दरअसल कुछ बीमारियां ऐसी होती है जिनमें लंबे समय तक दवाओं का सेवन करना पड़ता है, इन दवाओं के कुछ साइड इफेक्ट्स भी होते हैं, जिस वजह से भी शरीर के अलग-अलग हिस्सों में फैट जमा होने लगता है।  

9. नींद की कमी 

कुछ लोगों को जानकर हैरानी होगी लेकिन यह सच है नींद की कमी के कारण भी हिप्स का साइज बढ़ सकता है। कई रिसर्च में यह साबित हो चूका है की नींद की कमी से शरीर में फैट बढ़ता है। नींद की कमी से मेटाबॉलिज़्म और पाचन पर बुरा असर पड़ता है साथ ही इससे तनाव भी बढ़ता है और इन सब के कारण बॉडी के अलग-अलग हिस्सों में फैट बढ़ने लगता है। 

हिप्स कम करने के उपाय – How To Reduce Hips Fat in Hindi

हिप्स बढ़ने के कारण (hips badhne ke karan) जानने के बाद अब हिप्स कम करने के उपायों के बारे में जानते हैं। यदि आप हिप्स में जमा फैट कम करना चाहते हैं तो आपको अपनी लाइफस्टाइल और खानपान पर विशेष ध्यान देना होगा। 

1. भोजन में प्रोटीन शामिल करें 

protein foods

2. चीनी व नमक का सेवन कम करें

चीनी या चीनी से बनी चीजों का अधिक सेवन हर लिहाज से स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। यह शरीर में फैट को बढ़ावा देती है। अधिक शुगर लेने से पेट, कमर व हिप्स के आसपास फैट जमा होता है और इससे शरीर में तरह-तरह की बीमारियां भी उतपन्न हो सकती है। शुगर का ज्यादा सेवन करने से मेटाबॉलिज्म और पाचन क्रिया पर भी बुरा असर पड़ता है जिससे भी बॉडी में फैट बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है।

यदि आप हिप्स कम करना चाहते हैं तो आपको चीनी का कम से कम सेवन करना चाहिए। बेहतर होगा कि चीनी की जगह आप सीमित मात्रा में शहद, मिश्री या गुड़ का इस्तेमाल करें। साथ ही कोल्ड ड्रिंक, सोडा, पैकेट बंद जूस, कैक, कैंडी इतियादी से भी दूर रहें इनमें बहुत ज्यादा मात्रा में शुगर का इस्तेमाल किया जाता है।

3. अनहेल्दी फूड्स से दूर रहें 

unhealthy foods

हिप्स का साइज कम करने के लिए आपको सभी तरह के फास्ट फूड्स, ऑयली फूड्स, बाजार में मिलने वाले पैकेट बंद फूड्स और मसालेदार भोजन से भी दूर रहना चाहिए। से सभी फूड्स हेल्थ के लिए बिल्कुल भी अच्छे नहीं है, इनमें बहुत ज्यादा कैलोरी होती है जो सिर्फ शरीर में चर्बी बढ़ाने का काम करते हैं। इसलिए इनसे दूरी बनाने में ही भलाई है। इनकी जगह घर का बना हेल्दी खाना खाएं।

4. शरीर को एक्टिव रखें 

यदि आप हिप्स का साइज कम करना चाहते हैं तो आपको अपनी बॉडी को ज्यादा से ज्यादा एक्टिव रखना होगा। खासकर पैरों का खूब इस्तेमाल करना होगा। पैदल चलना, सीढ़ियां चढ़ना-उतरना, साइकिलिंग करना, आउटडोर गेम खेलना जैसी नार्मल एक्टिविटीज से खुद को दूर न रखें। दिनभर में कम से कम 10000 कदम चलने का लक्ष्य बनाएं, सुबह या शाम के समय वॉक पर जाएं और पैरों से ज्यादा से ज्यादा काम करें।

5. एक्सरसाइज और योग करें 

exercise and yoga poses for reduce hips fat

अगर आप तेजी से हिप्स पर जमा फैट कम करके हिप्स की मसल्स को टोंड बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको दिन में कुछ समय निकालकर एक्सरसाइज भी जरूर करनी चाहिए। कुछ एक्सरसाइज ऐसी है जो हिप्स और थाई का फैट कम करने में काफी मददगार होती हैं, इन एक्सरसाइज को आप घर पर भी आसानी से कर सकते हैं। ऐसी ही कुछ एक्सरसाइज इस प्रकार हैं।

  • सीढ़ियां चढ़ना-उतरना
  • स्क्वाट्स
  • लंजज
  • डोंकी किक
  • लेग रेजज
  • ग्लूट ब्रिज
  • साइड लाइंग लेग लिफ्ट
  • बटरफ्लाई पोज
  • चेयर पोज
  • कपोतासन
  • मलासन

आप इन एक्सरसाइज में से किन्ही 4-5 एक्सरसाइज का चुनाव करके डेली इनका अभ्यास कर सकते हैं। साथ ही समय-समय पर एक्सरसाइज में बदलाव करते रहें, लंबे समय तक एक जैसी एक्सरसाइज भी न करें।

हिप्स फैट कम करने के लिए कुछ जरुरी टिप्स

  • एक जगह पर ज्यादा देर तक बैठे या लेटे न रहे, यदि आप ऑफिस में काम करते हैं तो समय-समय पर बॉडी को मूव करते रहें।
  • अपनी डाइट में सिंपल कार्बोहायड्रेट और अनहेल्दी फैट की मात्रा कम करें। भोजन में प्रोटीन व फाइबर युक्त फूड्स को ज्यादा शामिल करें।
  • साथ ही आप अपनी डाइट में ग्रीन टी, लेमन वाटर, आंवला जूस, जीरा वाटर, दालचीनी चाय जैसे फैट बर्नर ड्रिंक्स को भी शामिल कर सकते हैं।
  • भोजन बनाने के लिए हमेशा अच्छा तेल इस्तेमाल करें।
  • सुबह चाय या कॉफी की जगह दो गिलास गुनगुने पानी से दिन की शुरुआत करें।
  • एक बारी में ज्यादा भोजन न करें, ओवरईटिंग से बचें।
  • शरीर में पानी की कमी न होने दें, दिनभर में भरपूर पानी पिएं।
  • रात को 7-8 घंटे की अच्छी नींद ले और तनाव से दूर रहें।

हिप्स फैट कम करने में कितना समय लगता है?

आप जितनी मेहनत करेंगे और जितनी अच्छी डाइट लेंगे आपको उतनी जल्दी अच्छा रिजल्ट मिलेगा। कभी भी शॉर्टकट के चक्कर में न रहें और निरंतर मेहनत करते रहें। हिप्स और थाई का फैट जिद्दी होता है ये एक-दो हफ्ते में नहीं जाने वाला, इसे कम करने में 3-4 महीनें या इससे भी ज्यादा का समय लग सकता है। लेकिन आप डिमोटिवेट न हों और लगातार मेहनत करते रहें। ऊपर बताए गए तरीकों से न सिर्फ हिप्स का फैट कम होगा, बल्कि इससे थाई, कमर और पेट में जमा फैट कम करने में भी काफी मदद मिलेगी। साथ ही आप बीमारियों से भी दूर रहेंगे।

निष्कर्ष – Conclusion

इस आर्टिकल में हमने हिप्स बढ़ने का कारण (hips badhne ke karan) और इसे कम करने के उपायों के बारे में जाना। उम्मीद है की आपको यह लेख पसंद आया होगा अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं, हमें आपके सवालों का जवाब देने में खुशी महसूस होगी। साथ ही इसी तरह की जानकारियों के लिए आप इजी लाइफ हिंदी के अन्य आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

Disclaimer : यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या डॉक्टरी सलाह का विकल्प नहीं हो सकता। इजी लाइफ हिंदी इनकी पुष्टि नहीं करता है, इस तरह के किसी भी उपचार, दवा, डाइट इतियादी पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Share on:

Hello readers! My name is Deepak Bhatt, a writer and operator of this website. I've completed my studies from Delhi University, and now through my website, I'm motivating people to improve their lifestyle with authentic and tested information.

Leave a Comment