रसायन वटी के फायदे, उपयोग और नुकसान | Rasayan Vati Ke Fayden Nuksan

रसायन वटी के फायदे (rasayan vati ke fayde) – इस ब्लॉग के माध्यम से हम आपको आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों व औषधियों से जुड़ी जानकारियां देते रहते हैं। इसी कड़ी में आज हम आपको एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि के बारे में बताने जा रहे हैं, जो पुरुषों की फिजिकल, मेंटल और सेक्सुअल हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद होती है, इस दवा का नाम “रसायन वटी” (rasayan vati in hindi) है। इस आर्टिकल में हम रसायन वटी के फायदे, उपयोग, खुराक, नुकसान और सावधानियों के बारे में जानेंगे।

रसायन वटी के बारे में – Rasayan Vati in Hindi

rasayan vati in hindi

रसायन वटी (rasayan vati) एक आयुर्वेदिक दवा है जिसका उपयोग मुख्य रूप से पुरुषों की यौन कमजोरी (sexual weakness), शारीरिक दुर्बलता और मूत्र रोगों (urinary disorders) के उपचार के लिए किया जाता है। इसे अभ्रक भस्म, यशदा भस्म, स्वर्ण वांगा, लौह भस्म, अश्वगंधा, शिलाजीत, कपिकाचु, मुसाली व मुक्त पिष्टी जैसी कई आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों के सयोंजन से बनाया जाता है।

आजकल व्यस्त जीवनशैली, खराब खनापन, तनाव व शारीरिक गतिविधि के अभाव के कारण 30-35 की उम्र में ही बहुत से पुरुषों को शारीरिक दुर्बलता व सेक्सुअल समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसी में इन समस्याओं के उपचार के लिए चिकित्सक की सलाह से रसायन वटी का इस्तेमाल किया जा सकता है। पुरुषों की फिजिकल, मेंटल और सेक्सुअल हेल्थ के लिए रसायन वटी के फायदे (rasayan vati ke fayde) जबरदस्त है।

रसायन वटी के मुख्य घटक – Rasayan Vati Ingredients In Hindi

रसायन वटी (rasayan vati) का निर्माण एक-दो नहीं बल्कि कई सारी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों व मसालों के सयोंजन से किया जाता है। नीचे इसमें शामिल कुछ मुख्य घटकों के बारे में बताया गया है। 

अश्वगंधाAshwagandha
शिलाजीतShilajit
शतावरीShatavari
ब्राह्मीBrahmi
स्वर्ण वांगाSwarna Vanga
लौह भस्मLoha Bhasma
अभ्रक भस्मAbhrak Bhasma
दालचीनीDalchini
मंजिष्ठाManjistha
जातीफलJatiphala
मुक्त पिष्टीMukta Pishti
मूसलीMusali
कपिकाचुKapikachhu
गोक्षुराGokshura
पिप्पलिPippali
अनंतमूलAnantmool
अम्लाकिकAmlakik
जावित्रीJavitri
क्षराKshara
सुनतीShunti
जावित्रीJavitri
मारीचMarich
स्वर्ण मक्षिका भस्मSwarna Makshika Bhasma
प्रवाल पिष्टीPraval Pishti

रसायन वटी कैसे काम करती है – Rasayan Vati Kaise Kam Karti Hai

रसायन वटी की इंग्रीडिएंट लिस्ट में अश्वगंधा, शिलाजीत, शतावरी, ब्राह्मी व गोक्षुरा जैसी जड़ी-बूटियां शामिल है, जिनके स्वास्थ्य लाभ इस प्रकार हैं।

1. अश्वगंधा – यह एक बेहद गुणकारी औषधि है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लेमेटरी व एंटी स्ट्रेस गुण पाए जाते हैं। जो शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने, तनाव कम करने, स्टैमिना व ताकत बढ़ाने, हड्डियों व मसल्स को मजबूत बनाने और पुरुषों की सेक्सुअल समस्याओं को दूर करने में सहायक होती है।

2. शिलाजीत – यह एक प्राकृतिक खनिज पदार्थ है जो हिमालय छेत्रों में पाया जाता है। स्वास्थ्य के लिए यह बेहद गुणकारी शिलाजीत एक बेहद अनमोल पदार्थ है। यह पुरुषों की यौन क्षमता को दुरुस्त करने, स्पर्म काउंट बढ़ाने, तनाव दूर करने, हड्डियों व मांसपेशियों को मजबूत बनाने और बढ़ती उम्र के प्रभावों को दूर करने में सहायक होता है।

3. शतावरी – इसे बेहद गुणकारी जड़ी-बूटियों में से एक माना जाता है। इसका उपयोग शारीरिक कमजोरी को दूर करने, सेक्सुअल पॉवर व स्टैमिना बढ़ाने, वीर्य दोष को ठीक करने व अनिद्रा के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। 100 से भी ज्यादा बीमारियों में शतावरी का उपयोग किया जाता है।

4. ब्राह्मी – यह मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी जड़ी-बूटियों में से एक है। यह स्मरण शक्ति बढ़ाने, तनाव कम करने, स्वसन क्रिया को बेहतर बनाने, इम्युनिटी बढ़ाने और पाचन संबंधी विकारों को दूर करने में सहायक होती है।

5. गोक्षुरा – यह भी एक शक्तिशाली औषधीय जड़ी-बूटी है। इसका उपयोग मुख्य रूप से मूत्र विकारों को दूर करने, सेक्सुअल स्टैमिना बढ़ाने, मधुमेह को नियंत्रित करने व सूजन को दूर करने के लिए किया जाता है। इसे गोखरू के नाम से भी जाना जाता है।

पढ़ना जारी रखें,
आगे हम रसायन वटी के फायदे (rasayan vati benefits in hindi) के बारे में बात रहे हैं।

रसायन वटी के फायदे – Rasayan Vati Benefits in Hindi

रसायन वटी में मौजूद तत्वों की खूबियां जानने के बाद अबतक आपको अंदाजा हो चूका होगा की यह दवा स्वास्थ्य के लिहाज़ से कितनी लाभकारी हो सकती है। रसायन वटी के कई स्वास्थ्य लाभ हैं, जिनके बारे में नीचे बताया गया है।

1. शारीरिक दुर्बलता दूर करें 

सुखी और स्वस्थ जीवन के लिए व्यक्ति का शारीरिक रूप से शक्तिशाली रहना बेहद जरूरी होता है। लेकिन आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी और गलत खानपान के कारण बहुत से लोग शारीरिक कमजोरी का शिकार हैं। रसायन वटी के उपयोग (rasayan vati uses in hindi) से शारीरिक कमजोरी को दूर करने में मदद मिल सकती है।

इसमें अश्वगंदा, शिलाजीत, शतावरी व सफेद मूसली जैसे कई महत्वपूर्ण आयुर्वेदिक घटक मौजूद हैं जो शरीर को शक्ति और ताकत प्रदान करने का काम करते हैं। अगर सही खानपान के साथ रसायन वटी का सेवन किया जाए तो कुछ ही समय में शारीरक कमजोरी से निजात पाया जा सकता है। 

2. पुरुषों की सेक्सुअल समस्याओं के लिए

पुरुषों की यौन कमज़ोरी को दूर करने के लिए रसायन वटी के फायदे (rasayan vati ke fayde) अच्छे हैं। इसमें मौजूद इंग्रेडिएंट्स जैसे अश्वगंधा, शिलाजीत, मूसली, गोक्षुरा, स्वर्ण वांगा आदि पुरुषों की यौन कमजोरी को दूर करने और शरीर में जोश व ताकत बढ़ाने में मददगार होते हैं। इसके उपयोग से शीघ्रपतन, इरेक्टाइल डिसफंक्शन, जोश व स्टैमिना की कमी जैसी कई सेक्सुअल समस्याओं में लाभ मिल सकता है। लेकिन इसका उपयोग डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए।    

यह भी पढ़े : डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल के फायदे   

3. शरीर में एनर्जी और स्टैमिना बढ़ाये   

अगर आप दिनभर थकान व सुस्ती महसूस करते हैं, किसी भी काम में मन नहीं लगता, शरीर थका-थका सा रहता है या थोड़ा सा शारीरिक कार्य करने पर सांस फूलने लग जाती है, तो रसायन वटी का उपयोग आपके लिए बेहद फायदेमंद (rasayan vati benefits in hindi) साबित हो सकता है। इसके उपयोग से शरीर में ऊर्जा की वृद्धि होती है और शरीर दिनभर एनर्जेटिक महसूस करता है साथ ही कार्यक्षमता में भी इजाफा होता है। 

रसायन वटी के अन्य फायदे – Rasayan Vati Ke Fayde

  •  मूत्र संबंधी रोगों से छुटकारा दिलाने में रसायन वटी काफी मददगार होती है। 
  • शरीर में खून की कमी की समस्या के लिए रसायन वटी का उपयोग (rasayan vati uses in in hindi) लाभकारी होता है। 
  • इसके सेवन से अनिद्रा की समस्या में भी लाभ मिलता है और रात को अच्छी नींद आने में मदद मिलती है।
  • यह दवा शरीर में ब्लड फ्लो को बढ़ाने में मदद करती है। 
  • इसके सेवन से शरीर से जहरीले पदार्थ (टॉक्सिन्स) दूर होते हैं। 
  • जिन लोगों को भूख नहीं लगती उनके लिए भी रसायन वटी के फायदे (rasayan vati benefits in hindi) अच्छे हैं, यह दवा भूख खोलने में मदद करती है।
  • इसके सेवन से भोजन का पाचन भी अच्छे से होता है और पेट स्वस्थ रहता है। 
  • इसके सेवन से हड्डियों और मांसपेशियों के दर्द में आराम मिलता है।
  • मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी रसायन वटी के लाभ (rasayan vati ke fayde) अच्छे हैं। इसके सेवन से तनाव और चिड़चिड़ापन कम होता है। 
  • यह दवा इम्युनिटी को भी मजबूत बनाने में मदद करती है जिससे शरीर को रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है।

रसायन वटी का सेवन विधि – Rasayan Vati Uses in Hindi

रसायन वटी (rasayan vati) का इस्तेमाल डॉक्टर या आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह से ही करना चाहिए। सभी का शरीर अलग होता है, इसलिए इसकी सेवन विधि भी सभी के लिए अलग हो सकती है, अतः इस दवा का सेवन चिकित्सक द्वारा बताए गए तरीके से ही करें। सामान्यतः इसकी एक टैबलेट को भोजन के बाद दिन में दो बार गुनगुने पानी या दूध के साथ लिया जाता है। 

रसायन वटी की कीमत – Rasayan Vati Price in Hindi

रसायन वटी की कीमत ज्यादा नहीं है। इसके 60 टैबलेट वाले पैक की कीमत लगभग 400-500 रुपए के आसपास है। जबकि ऑनलाइन खरीदने पर इसके ऊपर अच्छा डिस्काउंट भी मिल जाता है। आप ऑनलाइन amazon पर इसका वर्तमान प्राइस चेक कर सकते हैं।    

रसायन वटी के नुकसान – Rasayan Vati Ke Nuksan

रसायन वटी (rasayan vati) एक आयुर्वेदिक दवा है जिसमें केवल नेचुरल इंग्रेडिएंट्स का इस्तेमाल किया गया है। इसलिए इसके खास नुकसान अभी तक सामने नहीं आए हैं। लेकिन इसके उपयोग से पहले एक बार इसकी पूरी इंग्रेडिएंट लिस्ट को अच्छी तरह पढ़ लें और सुनिश्चित कर लें की इसमें कोई ऐसा तत्व मौजूद तो नहीं है जिससे आपको परेशानी हो सकती है।

साथ ही अधिक मात्रा में इसका सेवन न करें। अगर चिकित्सक द्वारा बताए गए तरीके से आप इसका इस्तेमाल करेंगे तो इसके नुकसान की बहुत कम संभावना होगी। 

रसायन वटी की सावधानियां – Rasayan Vati ki Savdhaniya

  • खाली पेट इस दवा का सेवन न करें। 
  • अधिक मात्रा में सेवन न करें। 
  • इंग्रेडिएंट लिस्ट अच्छी तरह चेक करे लें। 
  • इसकी एक्सपाइरी डेट भी जरूर चेक कर लें। 
  • डॉक्टर की देख-रेख में ही इसका उपयोग करें। 
  • इस दवा को बच्चों से दूर रखें।
  • इसके साथ शराब आदि का सेवन न करें।
  • साथ में अच्छी डाइट लें और खूब पानी पिएं।  

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल –  FAQ

Q. रसायन वटी खाने से क्या होता है?

Ans. रसायन वटी शारीरिक दुर्बलता, यौन कमजोरी व मूत्र विकारों को दूर करने में सहायक होती है। इसे पुरुषों की फिजिकल, मेंटल और सेक्सुअल हेल्थ के लिए अच्छा माना जाता है।

Q. रसायन वटी कितने दिन खानी चाहिए?

Ans. सामान्यतः इसका इस्तेमाल 3 महीनें तक लगातार किया जा सकता है, लेकिन सबकी शारीरिक स्थिति अलग होती है, इसलिए बेहतर होगा की आप इसका सेवन चिकित्सक की सलाह से ही करें।

Q. रसायन वटी कहाँ मिलती है?

Ans. रसायन वटी आपको आयुर्वेदिक स्टोर या मेडिकल शॉप में मिल जाएगी। साथ ही आप इसे ऑनलाइन भी ले सकते हैं। 

Q. रसायन वटी के क्या नुकसान हैं?

Ans. रसायन वटी का उपयोग अगर चिकित्सक द्वारा बताए गए तरीके से किया जाए तो इसका कोई गंभीर नुकसान नहीं हैं। 

Q. क्या महिलाएं रसायन वटी का उपयोग कर सकती है?

Ans. रसायन वटी में कोई ऐसा घटक मौजूद नहीं है जो महिलाओं के लिए हानिकारक हो, लेकिन महिलाओं के लिए यह दवा इतनी उपयोगी नहीं है। इसकी जगह महिलाएं दिव्य स्त्री रसायन वटी का उपयोग कर सकती है।

Q. क्या बच्चे रसायन वटी का उपयोग कर सकते हैं?

Ans. जी नहीं, बच्चों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

Q. रसायन वटी कैसे खाएं?

Ans. भोजन के कुछ देर बाद गुनगुने पानी या दूध के साथ इसका सेवन किया जाता है।

Q. इसे किस समय खाना चाहिए?

Ans. रसायन वटी को हमेशा भोजन के कुछ देर बाद ही लेना चाहिए, इसे खाली पेट लेने से बचना चाहिए।       

निष्कर्ष – Conclusion 

रसायन वटी के फायदे (rasayan vati ke fayde), देखकर यह कहा जा सकता है की यह एक बेहतरीन आयुर्वेदिक दवा है इसके इस्तेमाल से शरीर में ऊर्जा, स्टैमिना, ताकत और जोश को बढ़ाने में काफी मदद मिलती है। लेकिन इसका उपयोग आपको डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए। अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। साथ ही इसी तरह की जानकारियों के लिए इजी लाइफ हिंदी के अन्य आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

Disclaimer : यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या डॉक्टरी सलाह का विकल्प नहीं हो सकता। इजी लाइफ हिंदी इनकी पुष्टि नहीं करता है, इस तरह के किसी भी उपचार, दवा, डाइट इतियादी पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें, किसी भी नुकसान के लिए इजी लाइफ हिंदी जिम्मेदारी नहीं लेगा।

यह भी जरूर पढ़े

इस आर्टिकल को शेयर करें

Photo of author

Deepak Bhatt

Hello readers! My name is Deepak Bhatt, a writer and operator of this website. I've completed my studies from Delhi University, and now through my website, I'm motivating people to improve their lifestyle with authentic and tested information.

Leave a Comment

close button