मछली में कितना प्रोटीन होता है | Fish Me Protein Ki Matra

Fish Me Protein Ki Matra : प्रोटीन सेहत के लिए सबसे जरूरी पोषक तत्वों में से एक है। शरीर को सुचारू रूप से चलाने, मांसपेशियों व हड्डियों को मजबूत बनाने और त्वचा व बालों को हेल्दी रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन लेना जरूरी होता है। वैसे तो प्रोटीन शाकाहारी व मांसाहारी दोनों प्रकार के भोजन में पाया जाता है। लेकिन मांसाहारी लोगों के पास प्रोटीन के ज्यादा ऑप्शन होते हैं। मांसाहारी भोजन में फिश को प्रोटीन का सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है।

फिश प्रोटीन के बेस्ट सौर्स में से एक है। जो लोग फिश खाते हैं, उनके लिए प्रोटीन की पूर्ति करना थोड़ा आसान हो जाता है। लेकिन मछली में प्रोटीन की मात्रा (fish me protein ki matra) को लेकर लोगों के मन में अक्सर काफी सवाल होते हैं। जिनका जवाब आपको इस लेख में मिलेगा। मछली में कितना प्रोटीन होता है (fish me kitna protein hota hai) और इसका सेवन कब और कैसे करना चाहिए, इन सब सवालों के जवाब आपको इस आर्टिकल में मिलेंगे।

मछली में प्रोटीन की मात्रा – Fish Me Protein Ki Matra

अगर आप स्वाद के साथ-साथ प्रोटीन की प्राप्ति के लिए मछली का सेवन करना चाहते हैं तो आपको मछली में प्रोटीन की मात्रा (fish me protein in matra) जरूर पता होनी चाहिए। मछली में अच्छी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है यह तो हम सब जानते हैं, लेकिन मछलियां भी कई प्रकार की होती है इसलिए इनमें प्रोटीन की मात्रा अलग-अलग हो सकती है। मछलियों के कई प्रकार हैं जिसमे सालमन, रोहू, टूना, कतला, रावस, बांगड़ा व सिंघाड़ा सबसे ज्यादा प्रचिलित हैं। इन सब में अलग-अलग मात्रा में प्रोटीन मौजूद होता है।   

प्रोटीन के अलावा मचिलियों में ओमेगा-3 फैटी एसिड और कई प्रकार की विटामिन व मिनरल्स भी पाए जाते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी होते हैं। इनमें मौजूद पोषक तत्व मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं। जबकि मांसपेशियों, हड्डियों, ह्रदय, त्वचा, बाल, दांत, नाखून व आंखों के लिए भी इनमें मौजूद पोषक तत्व लाभकारी होती है। मछली में कितना प्रोटीन होता है (fish me kitna protein hota hai) के बारे में जानने के लिए लेख को आगे पढ़े।    

मछली में कितना प्रोटीन होता है – Fish Me Kitna Protein Hota Hai

FISH ME PROTEIN KI MATRA

मछली दुनियां के कुछ हेल्दी फूड्स में से एक है। प्रोटीन के अलावा मछलियों में ओमेगा-3 फैटी एसिड व कई प्रकार की विटामिन व मिनरल्स पाए जाते हैं। लेकिन ज्यादातर लोग प्रोटीन की प्राप्ति के लिए भी मछली का सेवन करते हैं।मछलियां कई प्रकार की होती है और सब में प्रोटीन की मात्रा अलग होती है। आइये जानते हैं कुछ फेमस फिश और उनमें मौजूद प्रोटीन (fish me protein in matra) के बारे में।

सालमन फिश में प्रोटीन की मात्रा – Salmon Fish me Protein Ki Matra

सालमन फिश प्रोटीन का एक बेहतरीन सौर्स है। यूनाइटेड स्टेट डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर (usda) के अनुसार 100 ग्राम सालमन फिश में लगभग 20.5 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है जो प्रोटीन की एक अच्छी मात्रा है। प्रोटीन के अलावा सालमन मछली में ओमेगा-3 फैटी एसिड भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो हार्ट को हेल्दी रखने में मददगार होता है। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के मुताबिक सफ्ताह में 2 बार सालमन फिश खाने से दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। 

यह भी पढ़े : लीन प्रोटीन क्या हैं, इसके फायदे और स्रोत

रोहू मछली में प्रोटीन की मात्रा – Rohu Fish me Protein Ki Matra

मछली के शौकीन लोगों ने रोहू फिश के बारे में तो जरूर सुना होगा। भारत में यह सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली मछलियों में से एक है। इसमें प्रोटीन, ओमेगा-3 फैटी एसिड, सेलेनियम, पोटैशियम, आयरन व जिंक जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। रोहू फिश में प्रोटीन की मात्रा (rohu fish me protein ki matra) की बात करें तो 100 ग्राम रोहू में लगभग 17 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है।  

टूना फिश में कितना प्रोटीन होता है – Tuna Fish me Kitna Protein Hota Hai

टूना फिश सबसे ज्यादा प्रोटीन वाली मछली में से के है। 85 ग्राम टूना फिश में लगभग 25 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है और सबसे अच्छी बात है की इसमें लगभग 90% प्रतिशत प्रोटीन होता है, फैट बहुत कम होता है। 85 ग्राम टूना फिश में केवल 110 कैलोरी होती है। जो लोग वजन कम करना चाहते हैं या फिर मसल्स बनाना चाहते हैं उनके लिए टूना फिश बेस्ट फूड्स में से एक है। सफ्ताह में एक या दो बार इसका सेवन जरूर करना चाहिए।    

कतला मछली में कितना प्रोटीन होता है – Protein in Catla Fish

कतला मछली में भी अच्छी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। भारत में यह सबसे ज्यादा खाये जाने वाली मछलियों में से एक है, कुछ जगह इसे भाकुर मछली के नाम से भी जाना जाता है। 100 ग्राम कतला मछली में लगभग 18-23 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है, साथ ही इसमें फैट भी कम होता है। 

प्रोटीन के अलावा इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड, सेलेनियम, आयरन व जिंक जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने, हार्ट को हेल्दी रखने और वजन कम करने में इसका सेवन बेहद फायदेमंद हो सकता है। साथ ही इसकी कीमत भी ज्यादा नहीं होती।      

रावस फिश में प्रोटीन की मात्रा – Rawas Fish Me Protein

रावस को इंडियन सालमन के नाम से भी जाना जाता है। सालमन की तरह इसमें भी भरपूर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। 100 ग्राम रावस मछली में लगभग 22-25 ग्राम के प्रोटीन मौजूद होता है और केवल 200 के आसपास कैलोरी होती है। साथ ही इसमें ओमेगा-3 व ओमेगा-6 फैटी एसिड्स, पोटैशियम, कैल्शियम, विटामिन-A, विटामिन-C व विटामिन B-12 भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है।              

बांगड़ा मछली प्रोटीन की मात्रा – Bangda Fish Me Kitna Protein Hota Hai

बांगड़ा मछली या मैकेरल फिश भी भारत में काफी पसंद की जाती है। खासकर मध्य भारत व दक्षिण भारत में इसका खूब सेवन किया जाता है, 100 ग्राम बांगड़ा मछली में 18-20 ग्राम के आसपास प्रोटीन होता है। साथ ही इसमें फैटी एसिड्स, विटामिन A, विटामिन D, विटामिन B12 व सोडियम, कैल्शियम व पोटैशियम भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। यह मछली हार्ट के लिए बेहद लाभकारी होती है। साथ ही इसका प्राइस भी ज्यादा नहीं होता। 

हिलसा मछली प्रोटीन की मात्रा – Hilsa Fish Me Protein Ki Matra

मछली खाने के शौकीन लोग हिलसा मछली के बारे में न जाने ऐसा नहीं हो सकता। यह भारत में सबसे ज्यादा खाये जानी मछलियों में से एक है। बंगाल, ओडिशा, गुजरात व असम में इसका खूब सेवन किया जाता है। 100 ग्राम हिलसा मछली में 20-21 ग्राम के आसपास प्रोटीन होता है। यह एक ऑयली फिश है इसलिए इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसके लाभ और स्वाद तो जबरदस्त हैं, लेकिन इस मछली का प्राइस भी बहुत ज्यादा होता है। 

मछली खाने के फायदे – Fish Khane Ke Fayde

  • ब्रेन की हेल्थ के लिए मछली बेहद फायदेमंद फूड में से एक है।
  • मछली खाने से मसल्स और हड्डियां को मजबूती मिलती है।
  • दिल के स्वास्थ्य के लिए भी मछली फायदेमंद मानी जाती है।
  • त्वचा व बालों की हेल्थ के लिए मछली बेहद लाभकारी होती है।
  • मछली खाने से आँखों की रोशनी सही रहती है।
  • कैंसर से बचाव करने में मदद करती है।
  • शरीर की कमजोरी दूर होती है और शरीर को ताकत मिलती है।
  • फिश खाने से इम्यूनिटी पावर भी बूस्ट होती है

फिश खाने का सही तरीका

भारत में ज्यादातर लोग फिश को बहुत ज्यादा पकाकर और इसमें तेज मसाले डालकर खाते हैं। अगर आप प्रोटीन की प्राप्ति के लिए फिश का सेवन कर रहे हैं तो इसे बहुत ज्यादा पकाकर न खाएं, ज्यादा पकाने से इसमें मौजूद पोषक तत्व नष्ट हो सकते हैं। फिश खाने का सबसे अच्छा तरीका है की इसे हल्का बॉईल या ग्रिल करे और इसमें ऑयल बहुत कम इस्तेमाल करें।

एक दिन में कितना प्रोटीन लेना चाहिए

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रीसर्च (ICMR) के अनुसार एक सामान्य व्यक्ति व महिला को प्रति एक किलो ग्राम वजन पर कम से कम एक ग्राम प्रोटीन जरूर लेना चाहिए। इस हिसाब से, यदि आपका वजन 60kg है तो आपको पूरे दिन में कम से कम 60g प्रोटीन जरूर लेना चाहिए। जबकि धावक, खिलाड़ी व एक्सरसाइज करने वाले लोगों को इससे ज्यादा मात्रा में प्रोटीन की जरूरत होती है। 

निष्कर्ष – Conclusion

सभी मछलियां स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है। आप अपनी सुविधानुसार किसी का भी सेवन कर सकते हैं। सभी में अच्छी मात्रा में प्रोटीन व ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है। उम्मीद है की आपको यह लेख “मछली में प्रोटीन की मात्रा” Fish Me Protein Ki Matra पसंद आया होगा और आपको इससे कुछ अच्छी जानकारी प्राप्त हुई होगी। अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। साथ ही इसी तरह की जानकारियों के लिए आप हमारे अन्य लेख भी पढ़ सकते हैं।

आपके लिए कुछ खास आर्टिकल

अन्य लोगों के साथ शेयर करें

Photo of author

Deepak Bhatt

Hello readers! My name is Deepak Bhatt, a writer and operator of this website. I've completed my studies from Delhi University, and now through my website, I'm motivating people to improve their lifestyle with authentic and tested information.

Leave a Comment

close button