Neeri Syrup Uses in Hindi | नीरी सिरप के फायदे, उपयोग व नुकसान

नीरी सिरप का उपयोग (Neeri Syrup Uses in Hindi) : नीरी सिरप Aimil Pharmaceuticals Ltd. द्वारा बनाया जाने वाला एक आयुर्वेदिक उत्पाद है। इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से गुर्दों से संबंधित समस्याओं के इलाज में किया जाता है। गुर्दे की पथरी (kidney stone), गुर्दों में इंफेक्शन (kidney infection), पेशाब में जलन व रुक-रुक कर पेशाब आना जैसी समस्याओं के लिए नीरी सिरप के फायदे (neeri syrup benefits in hindi) अच्छे हैं। साथ ही यह किडनी को डिटॉक्स करने का भी काम करती है जिससे किडनी की कार्यक्षमता में वृद्धि होती है।

नीरी सिरप (neeri syrup) के इतने सारे लाभ होने के बावजूद लोगों के मन में इसके सेवन को लेकर कई सवाल होते हैं। साथ ही नीरी सिरप, नीरी टैबलेट व नीरी kft सिरप को लेकर भी लोगों के मन में काफी कंफ्यूजन रहती है। इसलिए इस आर्टिकल में हम आपको नीरी सिरप के फायदे व उपयोग (neeri syrup uses in hindi) के साथ नीरी सिरप के बारे में (neeri syrup in hindi) पूरी जानकारी देने की कोशिश करेंगे।

नीरी सिरप क्या है? – Neeri Syrup in Hindi

neeri syrup in hindi

Neeri Syrup एक आयुर्वेदिक सिरप है जिसका उपयोग गुर्दों (kidney) से जुड़ी समस्याओं के इलाज में किया जाता है। इसमें गोखरू, दारुहरिद्रा, सहदेवी व पुनर्नवा जैसे कई आयुर्वेदिक घटक मौजूद होते है जो किडनी को डिटॉक्सीफाई करने का कार्य करते हैं जिससे किडनी की कार्यक्षमता में वृद्धि होती है। किडनी से संबंधित सामान्य रोगों के लिए यह बेहद लाभकारी दवा है।

सिरप के अलावा यह दवा टैबलेट के रूप में भी उपलब्ध है। दोनों का कार्य एक समान ही है आप अपनी सुविधानुसार और डॉक्टर की सलाह से इनमें से किसी का भी सेवन कर सकते हैं। आगे हम नीरी सिरप के घटकों (neeri syrup ingredients in hindi) के बारे में जानेंगे।

नीरी सिरप के मुख्य घटक – Neeri Syrup Ingredients in Hindi

नीरी सिरप (neeri syrup in hindi) में एक दो नहीं बल्कि कई आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का उपयोग किया गया है। इसके घटकों की पूरी लिस्ट और मुख्य घटकों की कुछ खास विशेषताओं के बारे में नीचे बताया गया है।

दारुहरिद्राBerberis Aristata
पाषाणभेदBergenia Ligulata
पुनर्नवाBoerhavia Diffusa
पलाशButea Monosperma
वरुणCrataeva Nurvala
सहदेवीVernonia Cinerea
अपामार्ग (चिरचिटा)Achyranthes Aspera
गोखरूTribulus Terrestris
अनंतमूलHemidesmus Indicus
मूलीRaphanus Sativus
शीतलचीनीPiper Cubeba
शिलाजीत शुद्धPurified Black Bitumen
छुइमुइ (लज्जावतीMimosa Pudica

दारुहरिद्रा 

नीरी सिरप (neeri syrup) में दारुहरिद्रा मौजूद है जो एक शक्तिशाली आयुर्वेदिक औषधि है, इसे दारु हल्दी के नाम से भी जाना जाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटीमाइक्रोबियल, एंटी-सेप्टिक व  एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। यह मधुमेह को नियंत्रित करने, सूजन कम करने, कब्ज व बवासीर में आराम देने व मूत्र रोगों को दूर करने में सहायक होती है। साथ ही यह त्वचा, आंखों व बालों के स्वास्थ्य के लिए भी बेहद लाभकारी है।

 पाषाणभेद 

पाषाणभेद के पौधे का उपयोग जड़ी-बूटी के रूप में कई आयुर्वेदिक औषिधियों में किया जाता है। पथरी के इलाज के लिए इसे बेहद लाभदायक माना जाता है। यह पथरी को छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़कर उसे मूत्र के रास्ते बाहर निकालने में मदद करता है। साथ ही यह मूत्र संक्रमण (यूटीआई) के लिए भी बेहद उपयोगी है।

पुनर्नवा 

नीरी सिरप (neeri syrup in hindi) के मौजूद पुनर्नवा भी एक शक्तिशाली आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है। यह किडनी में मौजूद अवांछित व विषैले पदार्थों की सफाई करने में मदद करता है साथ ही गुर्दे की पथरी के लिए भी यह काफी उपयोगी होता है। गुर्दे से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए पुनर्नवा बेहद फायदेमंद है साथ ही यह मोटापा कम करने, लिवर को स्वस्थ रखने व पीलिया रोग से राहत दिलाने में भी सहायक होता है। 

वरुण 

वरुण एक पौधा है जिसका उपयोग आयुर्वेदिक औषिधि बनाने में किया जाता है। यह किडनी और मूत्राशय की पथरी को दूर करने में काफी मददगार होता है। इस जड़ी-बूटी के ऊपर कई शोध भी किए गए हैं जिसमे इसे गुर्दे व मूत्राशय की पथरी और मूत्र संबंधी रोगों (UTI) के लिए बेहद उपयोगी माना गया है। साथ ही यह त्वचा के लिए भी बेहद लाभकारी है इसमें एंटी-एजिंग गुण पाए जाते हैं जो त्वचा को समय से पहले बूढ़ा होने से बचाने में मदद करता है। 

सहदेवी 

सहदेवी भी एक आयुर्वेदिक औषधीय पौधा है जिसके कई सारे स्वास्थ्य लाभ है। आयुर्वेद में इसे गुर्दे की पथरी (kidney stone) के लिए बेहद लाभकारी माना गया है, यह गुर्दे की पथरी को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर उसे मूत्र मार्ग से बाहर निकालने में सहायक होती है। इसके अलावा पेशाब में जलन के लिए भी इसका उपयोग लाभकारी होता है। 

नीरी सिरप के फायदे जानने के लिए पढ़ना जारी रखें।

नीरी सिरप के फायदे – Neeri Syrup Benefits in Hindi

neeri syrup ke fayde in hindi

1. गुर्दे की पथरी के लिए नीरी सिरप

गुर्दे की पथरी (kidney stone) एक आम समस्या है जिससे कोई लोग परेशान रहते हैं। सामान्यतः छोटी आकार की पथरी चिंताजनक नहीं होती क्योंकि यह मूत्र के रास्ते आसानी से निकल जाती है लेकिन यदि पथरी का आकार बड़ा हो तो यह एक बड़ी समस्या बन जाती है।

इस कारण पीठ के नीचले हिस्से और पेट में तेज दर्द रहने लगता है और शरीर में कई समस्याएं बढ़ने लगती है। ऐसे में गुर्दे की पथरी के लिए नीरी सिरप के फायदे (neeri syrup uses in hindi) अच्छे हैं यह पथरी की समस्या को दूर करने में काफी सहायक होता है। लेकिन इसका उपयोग डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए। 

2. गुर्दे के संक्रमण के लिए उपयोगी

नीरी सिरप (neeri syrup) में मौजूद आयुर्वेदिक घटक गुर्दे के संक्रमण (kidney infection) को दूर रखने में भी काफी मददगार होते हैं। दरअसल, यह किडनी को डिटॉक्स करने का काम करता है जिसेस किडनी में मौजूद विषैले व दूषित पदार्थों से छुटकारा मिलता है। जिससे किडनी की कार्यक्षमता में वृद्धि होती है और यह बेहतर ढंग से कार्य करती है। नीरी सिरप में मौजूद सहदेवी, वरुण, पुनर्नवा, दारुहरिद्रा व लज्जावती जैसी जड़ी-बूटियां गुर्दों के स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होती है। 

3. मूत्र रोगों के लिए निरी सिरप के फायदे

मूत्र रोग जैसे पेशाब में तेज जलन महसूस होना, पेशाब करते समय दर्द की अनुभूति होना, रुक-रुक कर पेशाब आना जैसी समस्याओं के लिए भी नीरी सिरप बेहद फ़ायदेमदं (neeri syrup benefits in hindi) है। किडनी में संक्रमण भी मूत्र रोगों का एक बड़ा कारण है। ऐसे में नीरी सिरप की मदद से इन समस्याओं में भी काफी लाभ मिल सकता है। इसमें मौजूद घटक जैसे दारुहरिद्रा, पाषाणभेद, वरुण व सहदेवी मूत्र संबंधी रोगों के लिए बेहद लाभकारी होते हैं।

यह भी पढ़े

नीरी सिरप के कुछ अन्य लाभ – Other Benefits of Neeri Syrup in Hindi

  • नीरी सिरप यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (UTI) के लिए काफी उपयोगी है।
  • बॉडी को डिटॉक्स करता है और जहरीले तत्वों से शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है।
  • इम्युनिटी को मजबूत बनाने में भी सहायक है। 
  • पेट से जुड़ी समस्याओं के लिए भी नीरी सिरप का उपयोग (neeri syrup uses in hindi) फायदेमंद होता है।
  • इसमें मौजूद घटक बैक्टीरियल इन्फेक्शन को दूर करने में भी सहायक होते हैं।

नीरी सिरप का उपयोग कैसे करें – Neeri Syrup Uses in Hindi

नीरी सिरप के फायदे (neeri syrup uses in hindi) जानने के बाद अब इसके सेवन के तरीके के बारे में भी जान लेते हैं। वैसे तो नीरी सिरप एक आयुर्वेदिक दवा है जिसमें केवल जड़ी-बूटियां शामिल है जिस वजह से इसके साइड इफेक्ट्स की संभावना कम रहती है। लेकिन हर व्यक्ति का शरीर एक जैसा नहीं होता है जरुरी नहीं की सब पर यह एक जैसा असर करें इसलिए इसका सेवन केवल डॉक्टर की सलाह के बाद ही करना चाहिए। सामान्यतः इसकी खुराक इस प्रकार है।

  • 6-12 साल तक के बच्चे इसके 1 छोटी चम्मच को गुनगुने पानी के साथ दिन में अधिकतम दो बार ले सकते हैं। 
  • व्यस्क इसके 2 चम्मच गुनगुने पानी के साथ दिन में अधिकतम दो बार ले सकते हैं। 
  • बुजुर्ग भी इसके 2 चम्मच गुनगुने पानी के साथ दिन में अधिकतम दो बार ले सकते हैं। 
Note : Neeri Syrup को भोजन से पहले या भोजन के बाद किसी भी समय लिया जा सकता है। लेकिन ध्यान रहे की इसके सेवन के बाद कम से कम 30 मिनट तक कुछ भी न खाएं। 

नीरी सिरप से जुडी सावधानियां – Neeri Syrup Precautions in Hindi

  • नीरी सिरप लेने से पहले इस पर लिखे दिशा-निर्देशों को अच्छी तरह पढ़ लें
  • इसका अधिक सेवन न करें, इसके अधिक सेवन से शरीर को नुकसान भी हो सकते हैं। 
  • बच्चों और गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर की सलाह से ही नीरी सिरप का उपयोग करना चाहिए। 
  • किसी भी तरह की गंभीर चोट, सर्जरी या बीमारी में भी डॉक्टर की सलाह के बाद ही इसका सेवन करना चाहिए। 
  • नीरी सिरप का इस्तेमाल अधिक लंबे समय तक न करें, डॉक्टर द्वारा बताई गई तय समय सीमा तक ही इसका उपयोग करें।
  • नीरी सिरप (neeri syrup) को ठंडे पानी के साथ न लें, गुनगुने पानी के साथ ही इसका सेवन करें। 
  • इसे सूर्य की रोशनी व फ्रिज में स्टोर करके न रखें। कमरे की तापमान पर ही स्टोर करके रखें।
  • इसके सेवन से पहले एक बार इसकी एक्सपायरी डेट भी अवश्य चेक कर लें।    

Neeri Syrup की कीमत

Neeri Syrup की 200 ml की बोतल का प्राइस लगभग 250 रुपए के आसपास है, जबकि Neeri Syrup KFT शुगर फ्री का प्राइस थोड़ा अधिक है इसकी 200 ml बोतल का प्राइस लगभग 500 रुपए के आसपास है। साथ ही समय के साथ इसका प्राइस कम-ज्यादा भी हो सकता है।  

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल – FAQs

Q. Neeri Syrup या Neeri Tablet दोनों में से क्या बेहतर हैं?

Ans. नीरी सिरप और नीरी टैबलेट में एक समान गुण मौजूद होते हैं और दोनों ही किडनी के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है, आप अपनी सुविधानुसार दोनों में से किसी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

Q. नीरी सिरप को कैसे लेना चाहिए?

Ans. नीरी सिरप को गुनगुने पानी के साथ मिक्स करके भोजन से पहले या बाद में किसी भी समय ले सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे की इसके सेवन के बाद कम से कम 30 मिनट तक कुछ भी न खाएं।

Q. Neeri Syrup KFT क्या काम करती है?

Ans. Neeri Syrup KFT भी किडनी की हेल्थ के लिए उपयोगी होता है, इसकी खास बात है की यह शुगर फ्री है। इसमें आमला, गिलोय, वरुण, कासनी, पुनर्नवा, पपीता व धनिया जैसे घटक मौजूद होते हैं।

Q. क्या नीरी सिरप किडनी स्टोन के लिए अच्छी है?

Ans. जी हाँ, नीरी सिरप किडनी स्टोन के लिए एक शानदार हर्बल दवा है जो किडनी स्टोन को मूत्र के रास्ते बाहर निकालने में मदद करती है।

Q. क्या बच्चे नीरी नीरी सिरप का उपयोग कर सकते हैं?

Ans. 6 साल से अधिक उम्र के बच्चे डॉक्टर की सलाह के बाद इसका उपयोग कर सकते हैं।

Q. क्या नीरी सिरप का उपयोग गर्भवती महिलाएं कर सकती हैं?

Ans. गर्भवती महिलाओं और बच्चों को स्तनपान कराने वाली माताओं को इसके सेवन से बचना चाहिए, या फिर डॉक्टर की सलाह के बाद ही इसका सेवन करना चाहिए।

Q. Neeri Syrup भोजन से पहले लेना चाहिए या भोजन के बाद?

Ans. आप किसी भी समय इसका सेवन कर सकते हैं।  

निष्कर्ष – Conclusion

नीरी सिरप (neeri syrup in hindi) किडनी के स्वास्थ्य के लिए एक बेहतरीन आयुर्वेदिक दवा है, इसके सेवन से किडनी स्टोन व किडनी से जुडी समस्याओं में लाभ मिलता है। साथ ही मूत्र रोगों के लिए भी यह एक अच्छी आयुर्वेदिक दवा है। लेकिन इसका सेवन आपको डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए।

उम्मीद है की आपको नीरी सिरप के फायदे व उपयोग (neeri syrup uses in hindi) से संबंधित यह लेख पसंद आया होगा और आपको इससे कुछ अच्छी जानकारी प्राप्त हुई होगी। अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। साथ ही हेल्थ से जुडी इसी तरह की जानकारियों के लिए  हमारे अन्य आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

Disclaimer : यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या डॉक्टरी सलाह का विकल्प नहीं हो सकता। इजी लाइफ हिंदी इनकी पुष्टि नहीं करता है, इस तरह के किसी भी उपचार, दवा, डाइट इतियादी पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें, किसी भी नुकसान के लिए इजी लाइफ हिंदी जिम्मेदारी नहीं लेगा।

आपके लिए कुछ खास आर्टिकल

इस आर्टिकल को Share करें

Photo of author

Deepak Bhatt

Hello readers! My name is Deepak Bhatt, a writer and operator of this website. I've completed my studies from Delhi University, and now through my website, I'm motivating people to improve their lifestyle with authentic and tested information.

Leave a Comment

close button