दिव्य यौवनामृत वटी के फायदे और नुकसान | Patanjali Divya Youvnamrit Vati Benefits Hindi

दिव्य यौवनामृत वटी के फायदे (divya youvnamrit vati benefits in hindi) | आजकल की व्यस्त लाइफ स्टाइल और खराब खानपान के कारण पुरुषों से जुड़ी यौन समस्याएं तेजी से बढ़ रही हैं। जिनमें शीघ्रपतन, इनफर्टिलिटी (नपुंसकता) व शुक्राणुओं की कमी प्रमुख हैं। इन समस्याओं से निपटने में आयुर्वेदिक दवा काफी मददगार होती है। दिव्य यौवनामृत वटी (Divya Youvnamrit Vati) भी  एक ऐसी ही आयुर्वेदिक दवा है जो पुरुषों की शारीरिक और यौन कमजोरी को दूर करने के काफी सहायक होती है।   

दिव्य यौवनामृत वटी क्या है –  Patanjali Youvnamrit Vati in Hindi

दिव्य यौवनामृत वटी (patanjali  youvnamrit vati) एक आयुर्वेदिक दवा है जिसका उपयोग मुख्य रूप से पुरषों की यौन संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है साथ ही यह शारीरिक दुर्बलता को भी दूर करने में सहायक होती है। भारत की प्रशिद्ध आयुर्वेदिक कंपनी पतंजलि दिव्य फार्मेसी द्वारा इसका निर्माण किया जाता है। यह दवा टैबलेट के रूप में आती है जो आपको किसी भी पतंजलि स्टोर में आसानी से मिल जाएगी। 

दिव्य यौवनामृत वटी के घटक –  Patanjali Youvnamrit Vati Ingredients in Hindi

  • अश्वगंधा (Withaniasomnifera)
  • कोंच शुद्ध (Mucuna pruriens)
  • शतावरी (Asparagus racemosus)
  • सफेद मुस्ली (Chlorophytum arundinaceum)
  • जायफल (Myristica fragrans)
  • जावित्री (Myristica fragrans)
  • शुद्ध कुछला (Strychnos nuxvomica)
  • अकरकरा (Anacyclus pyrethrum)
  • जूंड बेडास्टर (Castorium)
  • स्वर्ण भस्म (Incinerated oxide of gold)
  • प्रवाल पिष्टी (Coral)
  • वांग भस्म  (Thermprocessed stanum)
  • शिलाजीत शुद्ध (Asphaltum)
  • पान रस (Piper bettle)

पतंजलि यौवनामृत वटी के घटकों की खूबियां  – Divya Youvnamrit Vati in Hindi

दिव्य यौवनामृत वटी के फायदे (divya youvnamrit vati benefits in hindi) जानने से पहले एक बार इसके मुख्य घटकों की खूबियों के बारे में जान लेते हैं। इसमें मजूद अश्वगंधा, कोंच शुद्ध, शतावरी, सफेद मुस्ली व शिलाजीत जैसे आयुर्वेदिक तत्व शारीरिक व यौन कमजोरी को दूर करने में काफी सहायक होते हैं, तो आइये जानते है इनकी क्या-क्या खूबियां है। 

अश्वगंधा अश्वगंधा एक बेहद गुणकारी जड़ी-बूटी है। यह पुरुषों की यौन क्षमता को बेहतर बनाने और वीर्य की गुणवत्ता में सुधार करने का कार्य करती है। इसके अलावा शारीरिक दुर्बलता को दूर करने, नींद में सुधार करने और चिंता, तनाव  व अवसाद को कम करने में भी अश्वगंधा का सेवन फायदेमंद होता है। साथ ही यह इम्युनिटी को भी बूस्ट करता है। (यह भी पढ़े – अश्वगंधा के फायदे, सेवन विधि और नुकसान)

कौंच बीज – कौंच के बीज भी स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी होते हैं और आयुर्वेदिक औषिधि के रूप में इनका उपयोग किया जाता है। यह पुरुषों की इनफर्टिलिटी यानी नपुंसकता को दूर करने में काफी सहायक होते हैं साथ ही यह शुक्राणुओं की गुणवत्ता में भी सुधार कर सकता है। मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी यह काफी फायदेमंद होते हैं। 

शतावरी – पतंजलि यौवनामृत वटी (patanjali youvnamrit vat) में शतावरी का भी इस्तेमाल किया गया है जो शारीरिक कमज़ोरी को दूर करने में काफी मददगार होती है। साथ ही प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने, पाचन में सुधार करने, हड्डियों को मजबूत बनाने और मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए भी शतावरी का उपयोग लाभकारी होता है। (यह भी पढ़े – पतंजलि शतावरी के 10 गजब फायदे)

सफेद मुस्ली – ​सफेद मुस्ली टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को बूस्ट करने में मदद करती है जिससे पुरुषों की यौन शक्ति में वृद्धि होती है। साथ ही यह स्पर्म क्वालिटी को बेहतर बनाने, इरेक्टाइल डिसफंक्शन (नपुंसकता) को दूर करने और हड्डियों को मजबूत बनाने में भी सहायक होती है। पुरुषों की यौन शक्ति को बूस्ट करने के लिए सफेद मुस्ली काफी उपयोगी होती है।

जायफल – जायफल का उपयोग आमतौर पर मसाले के रूप में किया जाता है और स्वास्थ्य के लिए यह बेहद फायदेमंद होता है। यह अनिद्रा को दूर करने, इम्युनिटी बढ़ाने, पाचन को बेहतर बनाने और तनाव कम करने में सहायक होता है। साथ ही इसमें दर्द निवारक गुण भी होते हैं और यह कैंसर जैसी भयानक बीमारी से बचाव में भी मदद कर सकता है। 

 शिलाजीत – शिलाजीत का उपयोग मुख्य रूप से इम्युनिटी बढ़ाने, सेक्सुअल स्टैमिना बढ़ाने, स्पर्म क्वालिटी को बेहतर बनाने और मेमोरी पावर को बूस्ट करने के लिए किया जाता है। साथ ही यह नींद में भी सुधार करता है और इसके सेवन से मांसपेशियां और हड्डियां भी स्वस्थ रहती है। (यह भी पढ़े – पतंजलि शिलाजीत के फायदे)

दिव्य यौवनामृत वटी के फायदे – Patanjali Youvnamrit Vati Benefits in Hindi

patanjali divya youvnamrit vati ke fayde hindi

1. शीघ्रपतन को दूर करने में सहायक – Patanjali Youvnamrit Uses For Premature Ejaculation

शीघ्रपतन पुरुषों की सेक्सुअल हेल्थ से जुड़ी एक आम समस्या है । इस समस्या को दूर करने में दिव्य यौवनामृत वटी का उपयोग (youvnamrit vati uses in hindi) बेहद फायदेमंद हो सकता है। इसमें अश्वगंधा, सफेद मूसली, कौंच बीज व शिलाजीत जैसे घटक मौजूद हैं जो शीघ्रस्खलन की समस्या को दूर करने में मददगार होते हैं। 

2. नपुसंकता की समस्या के लिए उपयोगी – Patanjali Youvnamrit Uses For Erectile Dysfunction

नपुसंकता (erectile dysfunction) जैसे भयंकर यौन संबंधित रोग के लिए भी पतंजलि यौवनामृत वटी के फायदे (patanjali divya youvnamrit vati benefits in hindi) अच्छे हैं। इसमें मौजूद इंग्रेडिएंट्स जैसे अश्वगंधा, सफेद मुस्ली, कौंच बीज आदि नपुसंकता की समस्या को दूर करने में मददगार होते हैं। नपुसंकता का एक कारण मानसिक तनाव भी होता है जिससे निपटने में भी दिव्य यौवनामृत वटी सहायक होती है। 

3. स्पर्म काउंट बढ़ाने में सहायक –  Divya Youvnamrit Vati Benefits For increasing sperm count

यौन प्रक्रिया के दौरान सीमेन में कम शुक्राणुओं का पाया जाना एक चिंता का विषय है, इस वजह से पुरुष बच्चे पैदा करने में असमर्थ भी हो सकते हैं। लेकिन इसका उपचार संभव है और दिव्य यौवनामृत वटी (patanjali youvnamrit vati) दवा इसमें मदद कर सकती है। शुक्राणुओं की संख्या में वृद्धि करने के साथ यह शुक्राणुओं की गुणवत्ता में भी सुधार करती है। 

यह भी पढ़े

4. शारीरिक दुर्बलता दूर करने के लिए यौवनामृत वटी के फायदे – Youvnamrit Vati Benefits in Hindi

दिव्य यौवनामृत वटी के फायदे (divya youvnamrit vati benefits in hindi) की आगे बात करें तो यह सेक्सुअल कमजोरी को दूर करने के साथ शारीरिक कमजोरी को भी दूर करने में सहायक होती है। अश्वगंधा, शतावरी, सफेद मुस्ली व शिलाजीत शरीर को ताकत और ऊर्जा प्रदान करते हैं और हड्डियों व मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मददगार होते हैं। इस दवा की मदद से सामान्य शारीरिक दुर्बलता, थकान और तनाव को दूर करने में काफी मदद मिलती है। 

  दिव्य यौवनामृत वटी के अन्य फायदे  – Divya Youvnamrit Vati Ke Fayde

  • इसके सेवन से नींद में सुधार आता है और रात को अच्छी नींद आती है। 
  • तनाव, अवसाद और चिंता को दूर करने के लिए भी दिव्य यौवनामृत वटी का सेवन फायदेमंद होता है।
  • इसमें मौजूद अश्वगंधा, शिलाजीत, कौंच बीज जैसे घटक मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होते हैं।
  • दिव्य यौवनामृत वटी (divya youvnamrit vati) शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी मजबूत बनाने में मदद करती है।
  • इसके सेवन से थकान, दर्द और आलस की समस्या से भी निजात मिल सकता है।  

 दिव्य यौवनामृत वटी के सेवन का तरीका – Divya Youvnamrit Vati Uses in Hindi

पतंजलि दिव्य यौवनामृत वटी (divya youvnamrit vati) का सेवन चिकित्सक द्वारा बताए गए तरीके से ही करना चाहिए। शारीरिक स्थिति और उम्र के हिसाब से इसकी खुराक अलग-अलग हो सकती है। सामान्यतः इसकी एक गोली को सुबह-शाम भोजन करने के बाद गुनगुने पानी या गुनगुने दूध के साथ लिया जाता है। लेकिन बेहतर होगा की आप इसका उपयोग चिकित्सक द्वारा बताए गए तरीके से ही करें।

दिव्य यौवनामृत वटी से संबंधित सावधानियां – Precautions related to Patanjali Yuvanamrit Vati in Hindi

  • किसी भी तरह के रोग से पीड़ित व्यक्ति को डॉक्टर की सलाह के बाद ही इसका सेवन करना चाहिए। 
  • अगर आप पहले से किसी अन्य दवा का सेवन कर रहे हैं तो उससे पहले भी डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
  • डॉक्टर द्वारा बताए गए तरीके से ही इसका सेवन करें। 
  • इस दवा के ओवरडोज न लें।  
  • बच्चों को इस दवा का सेवन नहीं करना चाहिए।

 दिव्य यौवनामृत वटी के नुकसान – Divya Youvnamrit Vati Side Effects in Hindi  

  • अगर चिकित्सक की सलाह से दिव्य यौवनामृत वटी (patanjali youvnamrit vati) का सेवन किया जाए तो इसके साइड इफेक्ट्स की संभावना कम होती है।
  • इस दवा में मौजूद ज्यादातर घटक गर्म तासीर के हैं जो शरीर में गर्मी बढ़ाने का काम कर सकते हैं। 
  • गर्भवती महिलाओं और हाई ब्लड प्रेसर के मरीजों के लिए यह दवा उपयोगी नहीं हैं।
  • अगर आपको इसके सेवन से किसी तरह की कोई परेशानी या साइड इफ़ेक्ट महसूस हो तो इसका सेवन तुरंत बंद कर दें और डॉक्टर को इस बारे में बताएं।   

दिव्य यौवनामृत वटी का मूल्य – Divya Youvnamrit Vati Price

  • दिव्य यौवनामृत वटी का मूल्य लगभग 350 रुपए हैं जिसमे 40 टैबलेट होती है।
  • आप इसे किसी भी पतंजलि स्टोर से खरीद सकते हैं। 
  • साथ ही ऑनलाइन भी आपको यह दवा मिल जाएगी।   

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल – FAQ  

Q. दिव्य यौवनामृत वटी किस काम आती है?

Ans. दिव्य यौवनामृत वटी पुरुषों की सेक्सुअल कमजोरी व शारीरिक दुर्बलता को दूर करने में सहायक होती है साथ ही यह तनाव व अवसाद को भी दूर करने में मदद करती है। 

Q. क्या दिव्य यौवनामृत वटी की लत लग सकती है?

Ans. जी नहीं, इस दवा की लत नहीं लगती।

Q. इसका सेवन कितने दिन तक करना चाहिए?

Ans. दिव्य यौवनामृत वटी का सेवन आपको डॉक्टर द्वारा बताए गए तरीके से ही करना चाहिए।

Q. दिव्य यौवनामृत वटी का सेवन भोजन से पहले करना चाहिए या बाद?

Ans. इस दवा का सेवन भोजन के बाद करना चाहिए।

Q. पतंजलि यौवनामृत वटी के गटक कौन-से हैं?

Ans. अश्वगंधा, कोंच शुद्ध, शतावरी, सफेद मुस्ली, स्वर्ण भस्म, जावित्री, शिलाजीत शुद्ध, वांग भस्म आदि पतंजलि यौवनामृत वटी के मुख्य घटक है। 

निष्कर्ष – Conclusion

दिव्य यौवनामृत वटी (patanjali youvnamrit vati) एक बेहतरीन आयुर्वेदिक दवा है लेकिन इसका सेवन आपको डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए। सभी का शरीर अलग होता है इसलिए जरुरी नहीं की इस दवा का सबको एक जैसा लाभ प्राप्त हो। साथ ही दवा का सेवन करने से पहले एक बार इसमें लिखे दिशा-निर्देशों को को जरूर पढ़ ले।

उम्मीद है की पतंजलि दिव्य यौवनामृत वटी के फायदे और नुकसान  (divya youvnamrit vati benefits and uses  in hindi) से संबंधित यह लेख आपको पसंद आया होगा। अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं, हम आपके सवालों का जवाब जरूर देंगे।

Disclaimer : यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या डॉक्टरी सलाह का विकल्प नहीं हो सकता। इजी लाइफ हिंदी इनकी पुष्टि नहीं करता है, इस तरह के किसी भी उपचार, दवा, डाइट इतियादी पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें, किसी भी नुकसान के लिए इजी लाइफ हिंदी जिम्मेदारी नहीं लेगा।

यह आर्टिकल भी पढ़े

इस आर्टिकल को शेयर करें

Photo of author

Deepak Bhatt

Hello readers! My name is Deepak Bhatt, a writer and operator of this website. I've completed my studies from Delhi University, and now through my website, I'm motivating people to improve their lifestyle with authentic and tested information.

Leave a Comment

close button