चावल खाने का सही समय, फायदे और नुकसान | Chawal Khane Ke Fayde

 Chawal khane ke fayde or chawal khane ka sahi samay : चावल दुनियां में सबसे ज्यादा खाए जाने वाले खाद्य पदार्थो में से एक हैं। भारत में भी ज्यादातर राज्यों जैसे पश्चिम बंगाल, बिहार, उड़ीसा, असम, झारखंड, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में दिन की एक मील (भोजन) में चावल जरूर खाया जाता हैं। 

शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसे चावल खाना पसंद न हो, राजमा-चावल, कड़ी-चावल, दाल-चावल, मछली-चावल और फ्राइड राइस कई लोगों का पसंदीदा भोजन हैं।

भारत में चावल इतना ज्यादा खाया जाता हैं लेकिन फिर भी कुछ लोग चावल खाने का सही समय (chawal khane ka sahi samay) नहीं जानते और वे किसी भी समय चावल खा लेते हैं, जिसके कारण उन्हें चावल खाने के फायदे (chawal khane ke fayde) पूर्ण रूप से प्राप्त नहीं पाते हैं।

अपने अक्सर लोगों के मुंह से सुना होगा कि चावल खाने से वजन बढ़ता हैं, पेट बाहर निकलता हैं, शरीर में शुगर का स्तर बढ़ता हैं या फिर सर्दी जुकाम या खांसी की शिकायत होती हैं।

उपरोक्त सभी समश्याएं चावल खाने से नहीं बल्कि गलत समय में चावल खाने से होती हैं। शरीर के लिए चावल खाने के फायदे (rice khane ke fayde) बेहतरीन हैं, अगर चावल सही समय (rice khane ka sahi samay) पर खाया जाए तो यह शरीर को पोषण देने का कार्य करते हैं, जबकि गलत समय पर चावल खाने से शरीर को नुकसान (chawal khane ke nuksan) भी झेलने पड़ सकते हैं।

चावल खाने के फायदे (rice khane ke fayde), चावल खाने के नुकसान (rice khane ke nuksan), चावल खाने का सही समय (rice khane ka sahi samay) और किस किस्म का चावल हेल्थ के लिए बेस्ट माना जाता हैं, के विषय मे आज हम विस्तार से जनेंगे।

चावल में पोषक तत्व –

चावल में मौजूद पोषक तत्वों की बात करें तो चावल कार्बोहायड्रेट का मुख्य स्रोत होता हैं। कार्बोहायड्रेट के साथ साथ चावल में प्रोटीन, वसा, कैल्शियम, मैग्नेशियम, आयरन, पोटेशियम, सोडियम, विटामिन बी6 और फाइबर जैसे पोषक तत्व पाए जाते है, जो शारीरिक स्वास्थ्य के लिए आवश्यक और लाभप्रद होते हैं।

चावल खाने के फायदे | Chawal Khane Ke Fayde | Rice Khane Ke Fayde

चावल या राइस खाने के फायदे (chawal khane ke fayde) की बात करें तो इसके स्वास्थ्य के लिए कई फायदे हैं।

कार्बोहाइड्रेट का मुख्य स्रोत

चावल कार्बोहायड्रेट का एक मुख्या स्रोत हैं, भूरे चावल में कॉम्प्लेक्स कार्बोहायड्रेट अच्छी मात्रा में पाया जाता हैं, जो शरीर को एनर्जी और शक्ति प्रदान करने का कार्य करते हैं। कार्बोहायड्रेट से प्राप्त एनर्जी से ही हम अपने दैनिक जीवन के कार्य कर पाते हैं। एक तरह से देखा जाए तो कार्बोहायड्रेट शरीर के लिए ईंधन का कार्य करते हैं, जिस प्रकार गाड़ी के लिए ईंधन जरूरी होता हैं वैसे ही शरीर के लिए कार्बोहायड्रेट जरूरी होते हैं। चावल खाने के फायदे (rice khane ke fayde) ही हैं की इनसे हमें अच्छी किस्म के कार्बोहायड्रेट (good carbohydrate) प्राप्त होते हैं। 

पेट की बीमारियों में लाभकारी

चावल खाने के फायदे (chawal khane ke fayde) की आगे बात करें तो चावल पेट के लिए भी अच्छे और लाभप्रद माने जाते हैं। उबले चावल कुछ गिने चुने हल्के भोजन में शामिल हैं जो बहुत जल्दी डाइजेस्ट हो जाते हैं। इन्हे पचाने में शरीर को बहुत ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती। रोटी की तुलना में चावल बहुत जल्दी डाइजेस्ट हो जाते हैं, इसलिए डॉक्टर द्वारा भी पेट की बीमारियों में ज्यादातर चावल खाने की सलाह दी जाती हैं।

इसके अलावा भूरे चावल में अच्छी मात्रा में फाइबर भी मौजूद होता हैं। फाइबर भोजन को अच्छी तरह पचाने और पेट साफ करने में लाभकारी होता हैं। जिन लोगों का सुबह पेट ठीक से साफ नहीं हो पाता हैं, उन्हें हमेशा ही अपने भोजन में फाइबर की मात्रा बढ़ाने की सलाह दी जाती हैं।

फाइबर कब्ज, अपच, एसिडिटी और पेट की गैस का इलाज हैं। भूरे चावल के साथ साथ हरि सब्जियां, दाल, अनाज व सूखे मेवे भी फाइबर अच्छी मात्रा में पाया जाता हैं।

मूत्र रोगों में फायदेमंद

पेशाब में जलन, पेशाब रुक रुक कर आना या पेशाब कम आना जैसे मूत्र रोगों में भी चावल का सेवन (chawal khane ke fayde) लाभकारी माना जाता हैं, साथ ही चावल का पानी पीने से भी मूत्र रोगों में आराम मिलता है। चावल की तासीर ठंडी होती हैं, जो पेट को ठंडा रखने का कार्य करता हैं, जिससे मूत्र रोगों में फायदा होता हैं। 

पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद

पाचन तंत्र भोजन से प्राप्त पोषक तत्वों को शरीर के विभिन्न हिस्सों तक ले जाने का कार्य करता हैं, जिससे शरीर के सभी अंग सुचारू रूप से अपना कार्य करते हैं, अगर पाचन तंत्र कमजोर होगा तो शरीर को भोजन से प्राप्त पोषक तत्व सही ढंग से नहीं मिल पाएंगे, जिसके कारण शरीर मे कई समश्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

पाचन तंत्र की खराबी का एक मुख्य वजह भारी भोजन करना हैं, पाचन तंत्र को भारी भोजन पचाने में काफी मेहनत करनी पड़ती हैं। जबकि चावल एक हल्का भोजन हैं, जो बहुत जल्दी पच जाता हैं और पाचन तंत्र को इसे पचाने में मेहनत नहीं करनी पड़ती। इसलिए चावल खाने के फायदे (rice khane ke fayde) उन लोगों के लिए बेहतरीन हैं जिनका पाचन कमजोर रहता हैं।

शारीरिक कमजोरी दूर करने में फायदेमंद

 जो लोग बॉडी कैसे बनाये या मोटे होने का तरीका ढूंढ रहे हैं उन्हें अपने भोजन से चावल को जरूर शामिल करना चाहिए, चावल एक हाई कैलोरी फूड हैं जिसमें कार्बोहाइड्रेट के साथ साथ प्रोटीन भी पाया जाता हैं। बॉडी बनाने के लिए कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन दो सबसे जरूरी पोषक तत्व हैं।

साथ ही अगर आप एक्सरसाइज या शारीरिक मेहनत का कार्य करते हैं तो भी आपको चावल का सेवन अवश्य करना चाहिए, चावल में मौजूद कार्बोहाइड्रेट किसी भी काम को करने के लिए शरीर को पर्याप्त एनर्जी देने का काम करते हैं।

दुबले पतले लोगों को अपने भोजन में चावल को जरूर शामिल करना चाहिए। चावल खाने के फायदे (rice khane ke fayde) कमजोर, दुबले और पतले लोगों के लिए बेहतरीन हैं।

हड्डियों के लिए फायदेमंद

राइस खाने के फायदे (rice khane ke fayde) शरीर की हड्डियों के लिए भी अच्छे हैं। चावल खाने से हड्डियों मजबूत रहती हैं, हड्डियों में दर्द की शिकायत नहीं रहती और हड्डियों से आवाज आने की भी कोई शिकायत नहीं रहती, यानी जोड़ मजबूत रहते हैं। जिन लोगों को दूध और दूध से बनी चीजें पसंद नहीं हैं, उन्हें अपने भोजन में चावल जरूर शामिल करने चाहिए।

मांसपेशियों के विकास में लाभकारी

मांसपेशियों के विकास में प्रोटीन के बाद सबसे ज्यादा कॉम्प्लेक्स कर्बोहायड्रेट लाभकारी होते हैं, भूरे चावल कॉम्प्लेक्स कार्बोहायड्रेट का एक मुख्य सोर्स हैं, इसलिए यह मांसपेशियों के विकास में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। अपने अक्सर बॉडी बिल्डर को ब्राउन या भूरे चावल खाते अवश्य देखा होगा, मसल्स का आकार बढ़ाने के लिए ही वह चावल का सेवन करते हैं। 

वजन कम करने में उपयोगी

अगर चावल का सेवन सही मात्रा में और सही समय पर किया जाए तो वजन बढ़ाने के साथ साथ चावल मोटापा कम करने में भी फायदेमंद हो सकते हैं। वजन कम करने के लिए सफेद चावल की जगह भूरे चावल का ही इस्तेमाल करना चाहिए। 

जैसे कि हमनें उपर बताया कि भूरे चावल कॉप्मलेक्स कार्बोहाइड्रेट का एक मुख्य सोर्स हैं, कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट वजन को नियंत्रित करने में काफी सहायक होते हैं और डायटीशियन द्वारा वजन कम करने के लिए अक्सर भूरे चावल खाने की सलाह दी जाती हैं। वजन कम करने के लिए भूरे चावल के फायदे आपको तभी मिल सकते हैं जब आप साथ में अच्छा वर्कआउट कर रहे हों।

ग्लूटेन मुक्त हैं चावल

वर्तमान समय में ग्लूटेन मुक्त डाइट का चलन तेजी से आगे बढ़ रहा हैं, कुछ रिसर्च में सामने आया है कि गेहूं और जौ में मौजद ग्लूटेन स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता हैं, जिस कारण से भी लोग अब गेंहू से बनी चीजें जैसे रोटी व ब्रेड से दूर भाग रहे हैं। ग्लूटेन शरीर के लिए क्यों नुकसानदायक हैं इस बात का अभी सही तरीके से पता नहीं लग पाया हैं। लेकिन लोगों ने अभी से खासकर रात के भोजन में इसे लेना बंद कर दिया हैं।

जबकि चावल खाने के फायदे की बात करें तो इसमें ग्लूटेन बिल्कुल भी नहीं पाया जाता हैं, जिस कारण लोगों के बीच अब चावल प्रसिद्ध होते जा रहे हैं।

स्किन और बालों के लिए लाभकारी

हमनें राइस खाने के फायदे के विषय में तो जान लिया, लेकिन क्या आप जानते हैं कि चावल का पानी भी काफी फायदेमंद होता हैं और इसका उपयोग फेस पर ग्लो लाने और बाल लंबे घने करने के लिए किया जाता हैं। 

चावल में मौजूद विटामिन और मिनरल स्किन और बालों के लिए लाभकारी होते हैं, इसलिए चावल के पानी को कई तरीकों से ब्यूटी रेमेडी के तौर पर भी इस्तेमाल किया जाता हैं।

चावल खाने का सही समय | Chawal Khane Ka Sahi Samay | Rice Khane Ka Sahi Samay

कोई चीज कितनी भी ज्यादा पोष्टिक या गुणकारी क्यों न हो, यदि सही समय पर और सही मात्रा में उसका सेवन न किया जाए, तो उसके लाभ शरीर को पूर्ण रूप से नहीं मिल पाते हैं। चावल भी कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों में से एक हैं जिसे सही समय पर खाना (chawal khane ka sahi samay) आवश्यक होता हैं।

हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार चावल खाने का सही समय (chawal khane ka sahi samay) दिन का समय होता हैं। चावल कार्बोहाइड्रेट का एक मुख्य स्रोत हैं, जो शरीर को दिनभर एक्टिव रखने और शरीर को ऊर्जा प्रदान करने का कार्य करते हैं। चावल से प्राप्त एनर्जी की जरूरत शरीर को सबसे ज्यादा इसी दौरान होती हैं।

सूरज ढलने के बाद चावल का सेवन उचित नहीं माना जाता हैं, वैसे शाम या रात के समय कोई सा भी कार्बोहाइड्रेट फूड खाना सही नहीं माना जाता हैं। रात के समय कार्बोहाइड्रेट फूड्स खाने से मोटापा और पेट निकलने की समशय हो सकती हैं। साथ ही रात के समय चावल खाने से सर्दी खांसी और जुकाम की समशय भी हो सकती हैं।

इसके साथ बासी चावल यानी दिन के बचे हुए चावल रात को और रात के बचे चावल अगले दिन खाने से भी शरीर में कई तरीके की समश्याएं हो सकती हैं। चावल हमेशा ताजा ही खाने चाहिए।

क्या रात को चावल खाने चाहिए 

 जैसा कि ऊपर बताया गया हैं कि चावल खाने का सही समय दिन का समय हैं, आप लंच में चावल खा सकते हैं। अगर आप रात के समय चावल खाना चाहते हैं तो कुछ शर्तों के साथ रात में भी चावल खाया जा सकता हैं।

अगर आपका वजन कम हैं तो आप रात में थोड़े चावल खा सकते हैं। जबकि ज्यादा वजन वाले लोगों को रात के समय चावल बिल्कुल भी नहीं खाने चाहिए।

यदि आप दिन के समय एक्सरसाइज करते हैं तो रात में थोड़ा चावल खा सकते हैं। जबकि अगर आप कोई शारीरिक मेहनत नहीं करते हैं तो रात में चावल नहीं खाने चाहिए।

यदि आपको अक्सर सर्दी खांसी या जुकाम की समश्य रहती हैं तो भी रात के समय चावल नहीं खाने चाहिए। जबकि शरीर या पेट में गर्मी बढ़ जाने पर रात में थोड़ा चावल खाया जा सकता हैं।

50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को भी रात के समय चावल नहीं खाना चाहिए। इसके अलावा डायबिटीज के रोगियों को चावल रात के समय नहीं खाने चाहिए। 

चावल खाने के नुकसान | Rice Khane Ke Nuksan

चावल खाने के फायदे और चावल खाने का सही समय जानने के बाद अब चावल खाने के नुकसान के विषय में भी जानना आवश्यक हैं। कई परिस्थितियों में चावल का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता हैं।

पेट की चर्बी बढ़ने की समश्य

चावल खाने के नुकसान (rice khane ke nuksan) की बात करें तो यह मोटापे का एक मुख्य कारण हैं। ज्यादा मात्रा में सफेद चावल (white rice) खाने से पेट की चर्बी मोटी हो सकती हैं और शरीर का वजन बहुत ज्यादा बढ़ सकता हैं।

डायबिटीज का खतरा

ज्यादा चावल खाने से शरीर में डायबिटीज का खतरा भी बढ़ जाता हैं, डायबिटीज से बचने के लिए सफेद चावल की जगह भूरे चावल (brown rice) का सेवन करना चाहिए।

सर्दी खांसी और जुकाम

चावल की तासीर ठंडी होती हैं, जिससे कुछ लोगों को सर्दी खांसी व जुकाम की शिकायत (chawal khane ke nuksan) हो सकती हैं। ऐसे लोगों को चावल का सेवन कभी भी रात के समय नहीं करना चाहिए और साथ ही बासी चावल भी नहीं खाने चाहिए।

बुखार में नुकसानदायक

बुखार में चावल खाने के नुकसान (chawal khane ke nuksan) हो सकते हैं, इसलिए बुखार, पीलिया, टायफॉइड आदि बीमारियों में चावल का सेवन नहीं करना चाहिए। चावल शरीर के लिए ठंडा होता हैं, बुखार में ठंडी तासीर की चीजों से परहेज करना चाहिए। 

पथरी की समस्या

कुछ लोग कच्चे चावल खाने के भी आदी होते हैं, आपको बता दें की कच्चा चावल खाना सेहत के लिए हानिकारक (rice khane ke nuksan) होता हैं। कच्चे चावल खाने से पथरी की समस्या हो सकती हैं। 

भूरे चावल या सफेद चावल क्या खाने चाहिए | Brown Rice vs White Rice in Hindi

सफेद चावल (white rice) की तुलना में भूरे चावल (brown rice) खाना ज्यादा फायदेमंद और न्यूट्रिशियस होता हैं। सफेद चावल को पोलिश करके बनाया जाता हैं, इस प्रोसेस में इसमें मौजूद नुट्रिशन भी समाप्त हो जाते हैं, जबकि ब्राउन राइस में सभी नुट्रिशन मौजूद होते हैं। 

ब्राउन राइस (brown rice) में वाइट राइस की तुलना में ज्यादा प्रोटीन पाया जाता हैं। प्रोटीन शरीर की मांसपेशियों को मजबूत बनाने और वजन कम करने कम करने में सहायक होता हैं। साथ ही ब्राउन राइस में कॉम्प्लेक्स कार्बोहायड्रेट और फाइबर भी पाया जाता हैं जो पेट को भरा रखते हैं और धीरे धीरे डाइजेस्ट होते हैं। 

सफेद चावल (white rice) में प्रोटीन न के बराबर पाया जाता हैं और इसमें सिंपल कार्बोहायड्रेट होते हैं जो वजन बढ़ाने का कार्य करते हैं। साथ ही इसमें फाइबर भी बहुत कम मात्रा में पाया जाता हैं।

अगर आपका वजन कम हैं और आप मोटा होना चाहते हैं तो आप सफेद चावल खा सकते हैं, जबकि अगर आपका वजन ज्यादा हैं और आप पतला होने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको अपने भोजन में ब्राउन राइस को शामिल करना चाहिए। देखा जाए तो भूरे चावल खाने के फायदे (chawal khane ke fayde) शरीर के लिए बेहतरीन हैं। 

कुछ लोगों का विचार चावल को लेकर नकरात्मक रहा है और चावल को वजन बढ़ाने का कारण मानते हैं, जबकि ऐसा बिल्कुल भी नहीं हैं चावल कार्बोहायड्रेट का मुख्य स्रोत हैं और एनर्जी का पॉवर हाउस हैं। चावल खाने से ही मोटापा बढ़ता हैं यह कहना गलत होगा, मोटापा बढ़ने के कई कारण होते हैं। 

अपने इस पोस्ट राइस खाने के फायदे के माध्यम से हमने आपको चावल खाने के फायदे (chawal khane ke fayde), चावल खाने के नुकसान (chawal khane ke nuksan) और चावल खाने का सही समय (chawal khane ka sahi samay) के विषय में जानकारी दी हैं, उम्मीद हैं आपको जानकारी पसंद आयी होगी। 

चावल के विषय में अक्सर पूछे जाने वाले कुछ सवाल – 

Q. क्या चावल खाने से पेट निकलता हैं?

A. यह एक बिल्कुल ही गलत धारणा हैं की चावल खाने से पेट निकलता हैं। चावल खाने से पेट नहीं निकलता, पेट आपका ज्यादा कार्बोहायड्रेट लेने से निकलता हैं, चावल कार्बोहायड्रेट का एक अच्छा स्रोत हैं और अगर आप इसके साथ में और कार्बोहायड्रेट फ़ूड (रोटी, केला, फास्ट फूड, मैदे से बनी चीजें) का भी सेवन करते हैं तो फिर आपका पेट निकल सकता हैं। केवल चावल खाने से ही पेट निकलता हैं ऐसा बिल्कुल भी नहीं कहा जा सकता।  

Q. शाम को चावल क्यों नहीं खाना चाहिए?

A. चावल में कार्बोहायड्रेट ज्यादा होने के कारण इसका सेवन शाम के समय नहीं किया जाता हैं, शाम के समय शरीर को कार्बोहायड्रेट की कम जरूरत होती हैं और प्रोटीन की ज्यादा जरूरत होती हैं। साथ ही शाम के समय चावल खाने से सर्दी जुकाम की समस्या (chawal khane ke nuksan) भी हो सकती हैं।  

Q. चावल खाने का सही तरीका क्या हैं?

A. चावल खाने का सही तरीका (chawal khane ka sahi tarika) हैं की चावल को हमेशा उबालकर ही खाना चाहिए। कुछ लोग फ्राइड राइस खाते हैं जो स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं होता। 

Q. क्या चावल पूरी तरह से ग्लूटेन फ्री हैं?

A. हाँ जी, चावल पूरी तरह से ग्लूटेन फ्री हैं।  

आपके लिए कु

आपके लिए कुछ उपयोगी पोस्ट –

केला खाने का सही समय और फायदे

दही खाने का सही समय और फायदे

बेल का जूस बनाने की विधि और फायदे

जीरा पानी बनाने की विधि और इसके फायदे

डिटॉक्स वाटर क्या हैं और इन्हे घर पर कैसे बनाये

पतले होने के लिए इंटरमिटेंट फास्टिंग के फायदे

स्ट –

Photo of author

Deepak Bhatt

Hello readers! My name is Deepak Bhatt, a writer and operator of this website. I've completed my studies from Delhi University, and now through my website, I'm motivating people to improve their lifestyle with authentic and tested information.

Leave a Comment

close button