Chini Ke Nuksan | चीनी के भयंकर नुकसान और इसके 5 बेहतरीन विकल्प

चीनी खाने के नुकसान | Chini ke nuksan | चीनी (sugar) एक तरह का मीठा जहर हैं जो धीरे-धीरे शरीर को अंदर से खोखला बना देता हैं। अगर वक्त रहते चीनी के सेवन पर कंट्रोल न किया गया तो फिर आपका शरीर बीमारियों का घर बन सकता हैं। चीनी के ज्यादा इस्तेमाल से मोटापा, शुगर, कोलेस्ट्रॉल, पेट की बीमारियां, दिल की बीमारियां, हड्डियों व मांसपेशियों में कमजोरी जैसे कई समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

सफेद चीनी को रिफाइंड शुगर भी कहा जाता हैं। सल्फर डाई ऑक्साइड और फास्फोरिक एसिड की मदद से इसे रिफाइन किया जाता हैं, रिफाइन करने के दौरान चीनी में मौजूद विटामिन व मिनरल नष्ट हो जाते हैं और इसमें केवल मिठास रह जाती हैं। पोषक तत्वों की कमी के कारण चीनी हेल्थ के लिए हानिकारक हो जाती हैं। 

इजी लाइफ हिंदी के इस आर्टिकल हम चीनी खाने के नुकसान (chini ke nuksan) के बारे में जानेंगे। साथ ही जानेंगे की कितनी मात्रा में चीनी का सेवन सुरक्षित हैं और चीनी के विकल्प क्या हैं और क्या चीनी खाने के कुछ फायदे भी हैं।

चीनी के नुकसान | चीनी खाने के नुकसान | Chini ke nuksan   

चीनी के ज्यादा सेवन से शरीर में कई तरह की परेशानियां उत्पन्न हो सकती हैं। मीठे पकवान, चाय, कॉफी और पेय पदार्थों में चीनी का इस्तेमाल करना हानिकारक हो सकता हैं। चीन के नुकसान (chini ke nuksan in hindi) इस प्रकार हैं।

1. मोटापे का मुख्य कारण 

चीनी का ज्यादा सेवन करने से मोटापा तेजी से बढ़ता हैं। चीनी में केवल हाई कैलोरी होती हैं जिन्हें खर्च करने में शरीर को बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ती हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि एक कप चाय में मौजूद दो चम्मच चीनी बर्न करने के लिए आपको जिम में 30 से 40 मिनट एक्सरसाइज करनी पड़ सकती हैं। अगर आप अपने बढ़ते वजन से परेशान हैं तो आपको सबसे पहले चीनी को अपनी डाइट से हटाना होगा।

2. चीनी से डायबिटीज का खतरा बढ़ता हैं

Chini ke nuksan. sugar side effects in hindi

चीनी के नुकसान (chini ke nuksan in hindi) की बात करें तो इससे डायबिटीज का खतरा भी बढ़ जाता हैं। डायबिटीज यानी मधुमेह के कई कारण हैं जैसे- शारीरिक गतिविधि का अभाव, मोटापा, बढ़ती उम्र, अनहेल्दी डाइट व ज्यादा मीठी चीजें खाना। मीठी चीजों में सबसे ज्यादा अनहेल्दी और नुकसानदेह चीनी ही होती हैं। नियमित चीनी का ज्यादा सेवन और शारीरिक गतिविधि के अभाव से टाइप-2 डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता हैं।

3. दिल के स्वास्थ्य के लिए चीनी के नुकसान

2016 की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में 4 में से एक व्यक्ति की मौत दिल की बीमारी से होती हैं। दिल की बीमारियां एक या दो दिन में नहीं हो जाती यह कई साल गलत खान पान का नतीजा होती हैं। इस गलत खान पान में दो चीजें सबसे ज्यादा नुकसानदेह हैं ऑयली फूड और मीठा भोजन।

इसके साथ ही मोटापा और डायबिटीज के कारण भी हार्ट की बीमारियां होती हैं, जिनका मुख्य कारण चीनी और मीठा भोजन ही होता हैं। देखा जाए तो चीनी खाने के नुकसान (chini ke nuksan) हमारे पूरे शरीर के लिए हैं।

4.  पाचन शक्ति कमजोर होती हैं 

ज्यादा चीनी खाने का एक नुकसान यह भी हैं कि इससे हमारी पाचन शक्ति कमजोर पड़ने लगती हैं। पाचन तंत्र का मुख्य कार्य भोजन में मौजूद पोषक तत्वों को शरीर के विभिन्न अंगों तक पहुंचाना होता हैं। दरअसल, चीनी में फाइबर की कमी और ज्यादा कैलोरी होने के कारण पाचन तंत्र को इसे पचाने में बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ती हैं जिसके कारण पाचन तंत्र कमजोर पड़ने लगता हैं।

5. पेट के लिए चीनी खाने के नुकसान

strong digestion

चीनी के नुकसान (chini khane ke nuksan) की आगे बात करें तो इससे पेट से जुड़ी कई तरह की परेशानियां भी बढ़ सकती हैं। इन परेशानियों में पेट दर्द, पेट में कीड़े होना, गैस, एसिडिटी व कब्ज़ मुख्य हैं। फाइबर की कमी के कारण चीनी का सेवन पेट के लिए जहर के समान होता हैं। पेट इन इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए आपको सबसे पहले चीनी को अपनी डाइट से हटाना होगा।

6. चीनी से बढ़ सकती हैं खांसी

चीनी के अधिक सेवन से कफ, खांसी और छाती में बलगम जमने की समस्या भी हो सकती हैं। छोटी सी खांसी को चीनी बढ़ावा देने का काम करती हैं। कुछ लोग खांसी में दिनभर मीठी चाय पीते हैं जो बिल्कुल भी ठीक नहीं हैं, मीठी चाय से खांसी को और ज्यादा बढ़ावा मिलता हैं। साथ ही चीनी के ज्यादा सेवन से छाती में बलगम भी जमने लगता हैं।

7. इम्युनिटी का कमजोर पड़ना

देखा गया हैं कि जो लोग बहुत ज्यादा चीनी या मीठी चीजों का सेवन करते हैं उनकी इम्यूनिटी बहुत ज्यादा कमजोर होती हैं। इम्युनिटी हमारे शरीर के लिए एक रक्षा कवच का काम करती हैं जो शरीर को विभिन्न रोगों से बचा के रखती हैं। कमजोर इम्यूनिटी के कारण शरीर में वायरस और हानिकारक तत्व आसानी से प्रवेश करने लगते हैं जिससे शरीर रोगों का घर बनने लगता हैं। 

8. मांसपेशियों में कमजोरी

आपने अक्सर देखा होगा कि जो लोग अपनी सेहत के प्रति जागरूक होते हैं, जिम जाते हैं, एक्सरसाइज करते हैं या फिर योग करते हैं वो अपनी डाइट में चीनी का बहुत कम इस्तेमाल करते हैं या चीनी का इस्तेमाल करते ही नहीं हैं, वह इसलिए क्योंकि वे चीनी के नुकसान (chini ke nuksan) को जानते हैं।

 चीनी मसल्स की ग्रोथ के लिए सबसे ज्यादा हानिकारक होती हैं और यह मसल्स की ग्रोथ को रोक देती हैं। मसल्स की ग्रोथ के लिए सबसे अच्छा प्रोटीन होता हैं, आप प्रोटीन का इस्तेमाल ज्यादा करें।

9. दांतों और हड्डियों के लिए चीनी खाने के नुकसान

दांतों और हड्डियों के लिए भी चीनी का सेवन अच्छा नहीं होता हैं। कैविटी, मसूड़ों से खून निकलना, सांसों से बदबू आना और दांतों के पीलेपन का एक मुख्य कारण चीनी और चीनी से बनी चीजों का सेवन करना हैं। चीनी के सेवन से मुंह के अंदर के बैक्टीरिया ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं जिससे वह दांतों और मसूड़ों को नुकसान पंहुचाने का काम करते हैं।

छोटे बच्चों और बूढ़े लोगों को चीनी से दूर ही रखें, चीनी का सेवन दांतों के साथ साथ हड्डियों के लिए भी हानिकारक हो सकता हैं, यह हड्डियों को कमजोर बनाती हैं। कुछ लोग हड्डियों के लिए सहायक कैल्शियम का स्रोत दूध में भी चीनी का इस्तेमाल करते हैं, जो गलत और हानिकारक हैं। दूध में पहले से नेचुरल शुगर होती हैं इसलिए इसमें कभी भी चीनी का इस्तेमाल न करें।

10. दिमाग के लिए हानिकारक

चीनी ज्यादा खाने से दिमाग पर भी बुरा असर पड़ता हैं और तनाव बढ़ने लगता हैं। चीनी में कुछ ऐसे तत्व होते हैं जो आपकी याददाश्त को कमजोर करते हैं और स्ट्रेस को बढ़ावा देते हैं। पढ़ने वाले बच्चों को कभी भी चीनी का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए। अगर आप एक स्टूडेंट हैं या माँ बाप है तो आपको चीनी के नुकसान को समझना होगा

11. स्किन के लिए नुकसानदायक

pimples or pimples ke dag

चीनी का ज्यादा सेवन त्वचा के लिए भी हानिकारक होता हैं। चीनी के सेवन से चेहरे का ग्लो फीका पड़ने लगता हैं, चेहरे पर कील मुहासें होने लगते हैं, आंखों के नीचे काले घेरे पड़ने लगते हैं और त्वचा उम्र से पहले ही बूढ़ी दिखने लगती हैं। अगर आप एक हेल्दी और ग्लोइंग स्किन चाहते हैं तो चीनी को अपनी डाइट से कट कर दें।

12. चीनी के अन्य नुकसान

चीनी खाने के नुकसान (chini khane ke nuksan) इतने ज्यादा हैं कि इस पर एक पूरी बुक लिखी जा सकती हैं, देखा जाए तो चीनी के नुकसान एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। ज्यादा चीनी खाने से नींद की कमी, त्वचा रोग, अस्थमा, सिर दर्द, आंखें कमजोर होना, जोड़ों में दर्द होना, शरीर मे आलस बढ़ना, शरीर में स्टैमिना की कमी और लीवर से जुड़ीं समश्याएं भी हो सकती हैं।

चीनी खाने के फायदे | Chini Khane Ke Fayde

1. हर सिके के दो पहलू होते हैं चीनी के नुकसान जानने के बाद अब चीनी के फायदे (chini ke fayde in hindi) या चीनी खाने के फायदे (chini khane ke fayde) के बारे में जानते हैं और उसके बाद जानेंगे कि एक दिन में कितनी चीनी खानी चाहिए तथा चीनी की जगह मीठे के लिए किन किन चीजों का इस्तेमाल करना चाहिए।

2. चीनी खाने के फायदे (chini ke fayde) की बात करें तो चीनी खाने से शरीर मे तुरंत एनर्जी आती हैं। जब आप थक गए हो और आपको एनर्जी की जरूरत हो तो उस समय चीनी आपके काम आ सकती हैं। चीनी शरीर में ऊर्जा का विकास करती हैं, मगर यह ऊर्जा थोड़े समय के लिए ही होती हैं।

3. ब्लड प्रेशर लो होने पर भी चीनी का सेवन अच्छा होता हैं। इसके साथ ही शरीर मे पानी की कमी न हो इसके लिए नमक और चीनी का घोल भी फायदेमंद होता हैं। चीनी या मीठा खाने से खराब मूड भी तुरंत ठीक हो जाता हैं, मूड फ्रेश करने के लिए चीनी का सेवन फायदेमंद हैं। 

एक दिन में कितनी चीनी खानी चाहिए

चीनी के खाने के फायदे और नुकसान जानने के बाद यह जानना भी जरूरी हैं कि एक दिन में कितनी चीनी खानी चाहिए जिससे चीनी के नुकसान से बचा जा सके। American Heart Association (AHA) के अनुसार एक दिन में शुगर का सेवन महिलाओं और पुरुषों के लिए इस प्रकार हैं –

  • पुरुषों एक दिन में 150 कैलोरी शुगर से ले सकते हैं जो कि लगभग 37.5 ग्राम यानी 9 चम्मच होता हैं।
  • महिलाओं को एक दिन में 100 कैलोरी शुगर से ले सकती हैं जो कि लगभग 25 ग्राम यानी 6 चम्मच चीनी होते हैं।

आगर हमसे व्यक्तिगत रूप से पूछा जाए कि एक दिन में कितनी शुगर खानी चाहिए तो हमारा मानना हैं कि अगर आप शारीरिक मेहनत ज्यादा करते हैं तो इससे थोड़ा ज्यादा शुगर भी ले सकते हैं और अगर आपकी शाररिक गतिविधि कम हैं तो आप इससे कम ही शुगर लें।

कुछ लोग एक दिन में कितनी ज्यादा शुगर लेते हैं इस चीज का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि एक 600ml कोल्ड ड्रिंक में लगभग 70 ग्राम शुगर होती हैं, एक कप चाय में लगभग 10-15 ग्राम शुगर का इस्तेमाल किया जाता हैं, इसके बाद सरबत, दूध, लस्सी, मीठे पकवान आदि में भी चीनी का इस्तेमाल किया जाता हैं। भारत में कुछ लोग एक दिन में 100 ग्राम तक शुगर लेते हैं, इतनी शुगर स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी सही नहीं हैं।

चीनी का विकल्प | Chini Ka Viklap

हमारे पास चीनी का विकल्प (sugar substitutes in hindi) भी मौजूद हैं और मीठी चीजों में हमें चीनी की जगह इनका इस्तेमाल करना चाहिए, हम आपको चीनी के विकल्प बता रहे हैं वे चीनी की तुलना में हेल्थ के लिए कम नुकसानदायक हैं और चीनी की तुलना में इनमें ज्यादा पौष्टिक तत्व मौजूद होते हैं।

sugar alternatives in india, chini ke nuksan
चीनी के बेहतरीन विक्लप

1. चीनी का विकल्प शहद

शहद चीनी का सबसे अच्छा विकल्प (sugar alternatives in hindi) हैं । नेचुरल तरीके से बना शहद हेल्थ के लिए काफी लाभकारी होता हैं। वजन कम करने, खांसी जुकाम में राहत पहुंचाने, दिल को हेल्दी रखने और शरीर की इम्युनिटी (Immunity) बढ़ाने में शहद का सेवन फायदेमंद होता हैं। ध्यान रहे कि शहद को कभी पकाकर न खाएं। मीठे पकवानों और ड्रिंक्स में आप चीनी की जगह स्वास्थ्यवर्धक शहद का इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. धागे वाली मिश्री

धागे वाली मिश्री भी चीनी का विकल्प (chini ka viklap) हैं। धागे वाली मिश्री हेल्थ के लिए फायदेमंद होती हैं और इसमे कई विटामिन और मिनरल भी पाए जाते हैं। धागे वाली मिश्री को रिफाइंड करके नहीं बनाया जाता जिसके कारण यह चीनी के मुकाबले ज्यादा फायदेमंद होती हैं। चाय, कॉफी, दूध व मीठे पकवानों में आप धागे वाली मिश्री का इस्तेमाल करें और चीनी के नुकसान से बचें।

3. चीनी का विकल्प गुड़

 चीनी के विकल्प (Chini ka viklap) में अगला नाम गुड़ का हैं। गुड़ और चीनी दोनों ही गन्ने से बनती हैं लेकिन गुड़ चीनी के मुकाबले ज्यादा फायदेमंद होता हैं। चीनी को रिफाइंड करने पर इसमें मौजूद पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं जबकि गुड़ को नेचुरल तरीके से ही बनाया जाता हैं। गुड़ आयरन का अच्छा स्रोत हैं जो शरीर में हेमोग्लोबिन बढ़ाने और खून साफ करने में मदद करता हैं। ध्यान दें कि गुड़ की तासीर गर्म होती हैं इसलिए इसका इस्तेमाल सर्दियों के मौसम में ही करना चाहिए।

4. खजूर

विटामिन और मिनरल से भरपूर खजूर भी चीनी का अच्छा सब्स्टीट्यूट हैं (substitutes of sugar in hindi)। खजूर में नेचुरल मिठास होती हैं जो हेल्थ को चीनी जितना नुकसान नहीं पहुंचाती। आजकल मार्केट में खजूर की शक्कर भी मौजूद होती हैं आप उसका इस्तेमाल कर सकते हैं। कई मीठे पकवानों और केक, पेस्ट्री आदि में चीनी की जगह खजूर का इस्तेमाल किया जा सकता हैं।

5. ब्राउन शुगर

सफेद चीनी (White sugar) की जगह आप ब्राउन शुगर (Brown sugar) का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। ब्राउन शुगर चीनी के मुकाबले कम हानिकारक हैं। फिटनेस से जुड़े हुए लोग भी वाइट शुगर की जगह ब्राउन शुगर लेना पसंद करते हैं।  

चीनी के विकल्प (chini ke viklap) का सेवन भी एक सीमित मात्रा में ही करना चाहिए, इनका जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल हेल्थ के लिए अच्छा नहीं हैं। डायबिटीज के रोगियों को हम चीनी या चीनी का कोई सा भी विकल्प लेने की सलाह नहीं देंगे, डॉक्टर की सलाह के बाद इनका सेवन करें।

चीनी में कितनी कैलोरी होती हैं

चीनी में कैलोरी (Calories) अधिक मात्रा में होती हैं जिसके कारण यह मोटापा बढ़ाने के कार्य करती हैं। 100 ग्राम चीनी में लगभग 400 कैलोरी होती हैं, 400 कैलोरी बर्न करने में आपको जिम में दो घंटे से ज्यादा लग सकते हैं। इसलिए चीनी का सेवन सोच समझकर ही करें, चीनी में प्राप्त कैलोरी में कोई भी पोषक तत्व नहीं होते जिसके कारण यह और ज्यादा नुकसानदायक हो जाती हैं।  

शुगर का सही इस्तेमाल कैसे करें

आप शुगर (sugar) का सही इस्तेमाल इस तरह कर सकते हैं,  जैसे आप ने किसी दिन कोल्ड ड्रिंक पी ली तो आप उस दिन चाय या कॉफी न पिएं, अगर आपको किसी दिन मीठा खाने का मन हैं तो आप उस दिन अपनी पसंद की मीठी चीज बनाये और उसके अलावा उस दिन किसी भी चीज से शुगर न लें। आपको हर चीज को बैलेंस करके चलना होगा।

कुछ अन्य चीजें भी ध्यान में रखें

  • कोल्ड ड्रिंक्स, पैक्ड जूस और सोडा ड्रिंक में बहुत ज्यादा मात्रा में शुगर होती हैं इनका सेवन न करें।
  • केक, पेस्ट्री, बिस्किट आधी में भी शुगर का ज्यादा इस्तेमाल किया जाता हैं इसलिए इनके सेवन से बचे।
  • चॉकलेट, टॉफी व कैंडी आदि में भी आर्टिफिशियल शुगर मिक्स की जाती हैं, इनसे बच्चों को दूर रखें।
  • छोटे बच्चों को चीनी और चीनी से बनी चीजों से दूर रखें, फल और फलों का जूस बच्चों के विकास के लिए सबसे अच्छा हैं।
  • डायबिटीज के रोगियों को शुगर का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। 
  • अगर आपका वजन कम हैं तो भी आपको शुगर (sugar) का इस्तेमाल एक सिमित मात्रा में ही करना चाहिए। 

निष्कर्ष

चीनी खाने के नुकसान (chini ke nuksan) जानने के बाद आपको वक्त रहते चीनी से परहेज करना चाहिए, खासकर घर में बच्चों और बूढ़े लोगों को चीनी से दूर ही रखें। आप चीनी का विक्लप जैसे मिश्री, शहद, व गुड़ के बारे में भी सोच सकते हैं और मीठी चीजों में इनका इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही फल और फलों के रस से प्राकृतिक मिठास से सकते हैं।

Share This Article

Post Tags : Chini ke fayde, chini ke nuksan, sakkar ke nuksan, sakkar ke fayde, chini ke fayde or nuksan, chini ke viklap, sugar side effects in hindi, sugar benefits in hindi, sugar alternatives in hindi, chini khane ke fayde or nuksan

Photo of author

Deepak Bhatt

Hello readers! My name is Deepak Bhatt, a writer and operator of this website. I've completed my studies from Delhi University, and now through my website, I'm motivating people to improve their lifestyle with authentic and tested information.

Leave a Comment

close button